Tue. Apr 16th, 2024
Mahesh Chandra Deva, LucknowMahesh Chandra Deva, Lucknow

Mahesh Chandra Deva Ka Natak

कुछ दिन पहले वरिष्ठ समाजसेवी राम कृष्ण जी का एक हादसे में निधन हो गया। Ram Krishna Lucknow
रामकृष्ण जी का स्वभाव बहुत सरल था। इस कारण उन्हें सभी पसंद करते थे।

Mahesh Chandra Deva Ka Natak: लखनऊ की ‘मदर सेवा संस्थान’

संस्था ने उनकी याद में एक नाट्य प्रस्तुति की। Mother Seva Sansthan

“अंतर्द्वंद” नामक नाट्यप्रस्तुति की परिकल्पना, लेखन,निर्देशन और अभिनेता के रूप में महेश चंद्र देवा ने किया। Mahesh Chandra Deva

“अंतर्द्वंद” नामक नाट्यप्रस्तुति की परिकल्पना, लेखन,निर्देशन और अभिनेता के रूप में महेश चंद्र देवा ने किया। Mahesh Chandra Deva

इस एकल नाट्य

कृति में दिखाया गया है कि भगत नाम का व्यक्ति जो एक सीधा साधा गांव से शहर आया। वह अपने विचारों के बीच में अंतर्द्वंद में फंसा होता है।इस एकल नाट्य

कृति में दिखाया गया है कि भगत नाम का व्यक्ति जो एक सीधा साधा गांव से शहर आया। वह अपने विचारों के बीच में अंतर्द्वंद में फंसा होता है।

एक तरफ जहां वह भगत सिंह की विचारधारा में समाज को बदलने की मुहिम को लेकर चलता है तो दूसरी तरफ व्यवस्था और लोगों के ताने-बाने में इस तरह उलझ जाता है कि भगत व्यवस्था का एक छोटा सा मोहरा बन जाता है।

नाटक में भगत, भगत सिंह के विचारों को मंच पर दिखाने का प्रयास करता है।

अभिनेता बहुत साफगोई से समाज के छोटे-छोटे बिंदुओं को समेटने का भी प्रयास करता है और फिर वह उन्हीं विचारों के अंतर्द्वंद में घिर जाता है कि हम कहां है ? हम बदले या बदल दे?

नाटक ऐसे मोड़ पर खड़ा हो जाता है कि वह खुद ही दर्शकों में सवाल खड़ा करता है कि आपको क्या करना चाहिए ?

समय परिस्थितियों को देखते हुए व्यक्ति व्यक्तिवादी होता जा रहा है वह मानवीय संवेदनाएं, मूल्यों को दरकिनार करता जा रहा है।

भगत के चरित्र को महेश चंद्र देवा ने बखूबी जीवंत किया।

कार्यक्रम से जुड़े विवरण

रंगदीपन – तमाल बोस संगीत संचालन- श्रीकांत गौतम,
रूपसज्जा – सहीर
वेशभूषा – ऋतिक शाक्य
मंच निर्माण एवं प्रॉपर्टी- मो.सैफ /मो.अमन
फोटोग्राफी – अजय कुमार
वीडियोग्राफी – विनय सिंह तोमर
प्रस्तुति नियंत्रक- किरन लता की रही।
मंच संचालन – नरेश कुमार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *