Tue. Apr 16th, 2024

समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता आज़म ख़ान को अपने चुटीले और कभी-कभी विवादित बयानों के लिए जाना जाता है. आज़म समाजवादी पार्टी के सबसे बड़े नेताओं में शुमार किए जाते हैं. आजकल लखनऊ के सियासी गलियारों में चर्चा है कि आज़म एक बार फिर पार्टी में नम्बर दो की पोज़ीशन पर पहुँच गए हैं.

आज़म ने इस बीच एक और ऐसा बयान दिया है जो सोशल मीडिया पर ख़ूब वायरल हो रहा है. शुक्रवार के रोज़ उन्होंने ये बयान मुरादाबाद में दिया था. उनसे 2024 लोकसभा चुनाव के सिलसिले में सवाल किया गया कि लोकसभा चुनाव को लेकर सपा की क्या तैयारी है. इस पर आज़म ने कहा कि अभी तो लंगोट सिलने को दी है। लंगोट काफ़ी महंगी सिल रही हैं।

ED की विपक्षी नेताओं पर की जा रही कार्यवाई पर आज़म ख़ान व्यंग्य के अंदाज़ में कहा कि हम तो अंधे हैं, हम देखते ही कहां हैं। आप हमारी बात क्यों नहीं समझते. आज़म ने कहा कि हाँ, इतना ज़रूर है कि सूरदास नहीं हैं, हालात के अंधे हैं. एक पत्रकार ने सवाल किया कि उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के बाद सपा टूटती जा रही है, इस पर आज़म ने कहा कि तो जोड़ने वाला सीमेंट लाकर दे दो.

आज़म ख़ान ने सुभासपा नेता ओम प्रकाश राजभर पर भी चुटकी ली और कहा कि वो बड़े नेता हैं। मुख्यमंत्री भी बना रहे थे, प्रधानमंत्री भी, लेकिन क्या हुआ आप सभी जानते हैं। आज़म पत्रकार के उस सवाल पर भड़के नज़र आए जिसमें उन्होंने सवाल किया कि क्या राष्ट्रपति चुनाव में सपा की ओर से क्रॉस वोटिंग हुई थी?

आज़म ने कहा कि किसने कहा है कि क्रॉस वोटिंग हुई है। उसको मेरे सामने लेकर आइए, अभी पार्टी से बाहर करवा दूंगा। उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी की सरकार न बनने पर आज़म ख़ान ने कहा कि जो जीता वही सिंकदर। हम तो बंदर हो गए। उन्होंने कहा कि हमको कभी रामपुर, मुराबादाबाद, फिरोजाबाद, मुंबई, लखनऊ कोर्ट जाना पड़ता है। हम मदारी के बंदर हो गए हैं। आज़म ख़ान की इन बातों को सुनकर उनके साथ खड़े पार्टी के दूसरे नेता हँसते नज़र आए जबकि कुछ पत्रकार भी अपनी हँसी नहीं रोक पाए.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *