Mon. Apr 15th, 2024

नई दिल्ली: बीजेपी से निलंबित नूपुर शर्मा को पैगंबर मुहम्मद (SAW) पर की गई आपत्तिजनक टिपण्णी ने पूरे देश में एक हंगामा सा खड़ा कर रखा है. नुपुर शर्मा ने निहायत आपत्तिजनक बयान दिया जिसके बाद भाजपा को भी उन्हें निष्कासित करना पड़ा. उनके इस बयान की वजह से उनका विरोध कई मुस्लिम देशों में हुआ.

नूपुर शर्मा की ओर से वरिष्ठ अधिवक्ता मनिंदर सिंह ने सुप्रीम कोर्ट को बताया कि उन्होंने टिप्पणी के लिए माफी मांगी और बयान को वापस ले लिया। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि उन्हें टीवी पर जाकर देश से माफी मांगनी चाहिए थी। न्यायमूर्ति सूर्यकांत ने कहा, “हमने इस पर बहस देखी कि उसे कैसे उकसाया गया। लेकिन जिस तरह से उसने यह सब कहा और बाद में कहा कि वह एक वकील थी, वह शर्मनाक है। उसे पूरे देश से माफी मांगनी चाहिए।”

बता दें कि निलंबित भाजपा नेता नूपुर शर्मा ने अपनी विवादास्पद टिप्पणी को लेकर कई राज्यों में उनके खिलाफ दर्ज सभी प्राथमिकी को जांच के लिए दिल्ली ट्रांसफर करने की मांग करते हुए सुप्रीम कोर्ट का रुख किया। शर्मा का कहना है कि उन्हें लगातार जान से मारने की धमकियां मिल रही हैं।

जस्टिस सूर्यकांत ने कहा, “उसे धमकियों का सामना करना पड़ता है या वह सुरक्षा के लिए खतरा बन गई है? जिस तरह से उसने पूरे देश में भावनाओं को प्रज्वलित किया है। देश में जो हो रहा है उसके लिए यह महिला अकेले जिम्मेदार है।”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *