Sun. Apr 21st, 2024

सऊदी अरब के क्रॉउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान के विजन 2030 के तहत देश की महिलाएं भी अब काफी तरक्की कर रही हैं। सऊदी अरब एक ऐसा देश रहा है। जहां कई सदियों तक औरतों पर कई तरह की पाबंदियां रही हैं, लेकिन अब ऐसा नहीं है। अब देश की महिलाएं हर क्षेत्र में अच्छा प्रदर्शन कर रही हैं। इसी बीच सऊदी अरब की महिला फुटबॉल टीम ने अपना पहला अंतरराष्ट्रीय मैच खेला है।

भूटान के खिलाफ खेले गए इस मैच में सऊदी अरब की महिला टीम ने काफी अच्छा प्रदर्शन किया। सऊदी फुटबॉल महिला टीम को ग्रीन फाल्कन के नाम से जाना जाता है। महिलाओं की फुटबॉल टीम को अक्टूबर 2021 में लांच किया गया था। लॉन्चिंग के बाद यह महिला राष्ट्रीय टीम का चौथा मैच है। हालांकि यह मैच 3-3 से ड्रॉ रहा।

ग्रीन फाल्कन इससे पहले सेशेल्स और मालदीव के साथ मैच खेले हैं। अपने शुरुआती मैचों में ग्रीन फाल्कन ने फरवरी 2022 में मालदीव की राजधानी माले के नेशनल स्टेडियम में सेशेल्स और मालदीव के साथ मैच खेले थे। इस दौरान सऊदी प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान भी वहां पर मौजूद थे। आपको बता दें कि विजन 2030 के चलते देश का लक्ष्य महिलाओं को खेल के सभी स्तरों और भागीदारी में रुचि लेने के लिए प्रेरित करना भी है।

बीते 4 वर्षों में स्पोर्ट्स में अब महिलाओं की भागीदारी में बड़े स्तर पर बढ़ोतरी हुई है। बताया जाता है कि इस वक्त सऊदी अरब में 5 से लेकर 15 साल की लगभग 2 लाख लड़कियां स्पोर्ट्स में है। देश में नंबर वन खेल के रूप में महिला फुटबॉल टीम, सऊदी अरब फुटबॉल महासंघ के लिए सात प्रमुख रणनीतिक प्राथमिकताओं में से एक है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *