Mon. Apr 15th, 2024

मैनपुरी में समाजवादी पार्टी ने लोकसभा उपचुनाव के लिए अपना प्रचार अभियान तेज़ कर दिया है. सपा ने यहाँ से पूर्व सांसद डिम्पल यादव को टिकट दिया है. सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने चुनाव प्रचार की शुरुआत अपनी विधानसभा करहल से की. अखिलेश के साथ सपा के वरिष्ठ नेताओं का जमावड़ा भी यहाँ दिखा. अखिलेश ने चौधरी नत्थू सिंह की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर सपा नेताओं और कार्यकर्ताओं से संवाद किया। मंच पर उनके साथ सपा के राष्ट्रीय महासचिव प्रोफेसर रामगोपाल यादव, पूर्व मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य समेत कई नेता मौजूद रहे।

अखिलेश यादव ने कहा कि कई बार यहां कठिन परिस्थितियों में चुनाव हुए हैं। यह पहला ऐसा चुनाव है, जब नेताजी हमारे बीच नहीं हैं। मैनपुरी उपचुनाव पर पूरे देश की नजर है। उन्होंने कहा कि यह चुनाव नेताजी को श्रद्धांजलि देने का चुनाव है। यह सपा की प्रतिष्ठा का चुनाव है। उन्होंने मैनपुरी उपचुनाव में सपा की जीत का दावा किया। उन्होंने अपने चाचा और सपा विधायक शिवपाल यादव का भी ज़िक्र किया.

उन्होंने कहा कि अब तो चाचा से भी साथ आ गए हैं। सपा मुखिया ने कहा कि जो लोग कहते हैं अभी आज़मगढ़ हराया मैनपुरी भी हरा देंगे। उन लोगों को कहना चाहता हूं कि आज़मगढ़ तो हम धोखे में हार गए। यह मैनपुरी है। यहां की जनता कभी भी समाजवादी पार्टी को हारने नहीं देगी। उन्होंने कहा कि यहां से नेताजी का सीधा-सीधा संबंध रहा है। लोगों से जुड़े रहे हैं। नेताजी का मैनपुरी से वर्षों को रिश्ता है। मैनपुरी के लोगों ने नेताजी को नेताजी बनाया। यह आप लोगों को चुनाव है।

अखिलेश यादव ने कहा कि उपचुनाव में हम जीत ही रहे हैं, विधानसभा चुनाव में जिन बूथों पर कुछ वोटों से हमारी हार हुई थी। सभी कार्यकर्ता मिलकर उन ग्राम पंचायतों में जाएं और वहां के लोगों को हाथ जोड़कर निवेदन करें। उन्हें मनाएंगे तो वह मान जाएंगे। वो लोग भी हमारे साथ आ जाएंगे। हमारी लड़ाई भाजपा से नहीं है, हमारी लड़ाई सिर्फ करहल विधानसभा और जसवंत नगर विधानसभा से है। किस-किस विधानसभा से समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी को ज़्यादा मतों से जीत दर्ज कराएंगे।

अखिलेश यादव से पहले पूर्व मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य ने सपा कार्यकर्ताओं को संबोधित किया। उन्होंने भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा कि सरकारी संपत्ति योगी और मोदी की संपत्ति नहीं है। भाजपा सरकार ईस्ट इंडिया कंपनी की तरह कार्य कर रही है। ईस्ट इंडिया कंपनी भारत से ख़ज़ाना लूट कर इंग्लैंड भेज रही थी। उसी तरह योगी और मोदी देश की संपत्ति को अदाणी और अंबानी के हाथों में दे रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *