Mon. Apr 15th, 2024

68 सीटों वाली हिमाचल विधानसभा में कांग्रेस ने 40 सीटें जीतकर बहुमत हासिल कर लिया है वहीं भाजपा ने भी 25 सीटें जीती हैं. 3 सीटें निर्दलीयों के खाते में गई हैं. हम इस वीडियो में जानेंगे कि किन सीटों पर टक्कर काँटे की थी और किन सीटों पर विजेता पार्टी बड़े अंतर से जीती. प्रदेश की आठ सीटें ऐसी रहीं जहाँ पर जीत का अंतर बहुत ही कम रहा। कम मार्जन से जीत हासिल करने वाली सीटों में पांच सीटें कांग्रेस की जबकि तीन सीटें बीजेपी के खाते में गईं।

पूरे प्रदेश में सबसे कम मार्जन भोरंज सीट पर रहा। यहां हार जीत का फैसला पोस्ट बैलेट पेपर ने किया। ईवीएम की मतगणना में बीजेपी प्रत्याशी डॉ. अनिल धीमान 68 वोट से आगे थे। लेकिन जैसे ही पोस्टल बैलेट की गिनती शुरू हुई तो कांग्रेस के सुरेश कुमार आगे निकल गए और सुरेश कुमार 60 मतों से जीत गए।

इसके अलावा रामपुर में कांग्रेस प्रत्याशी नंद लाल 567 मतों से जीते, शिलाई में कांग्रेस प्रत्याशी हर्षवर्धन चौहान 382 मतों से जीते, श्रीरेणुका जी में कांग्रेस प्रत्याशी विनय कुमार 860 और सुजानपुर कांग्रेस प्रत्याशी राजेंद्र राणा ने 399 मतों से जीत दर्ज की। इसी तरह से बिलासपुर में बीजेपी प्रत्याशी त्रिलोक जंबाल 276, दरंग से बीजेपी प्रत्याशी पूर्ण चंद 618 और श्री नैना देवी से बीजेपी के रणधीर शर्मा ने 171 मतों से जीत दर्ज की।

अगर उन सीटों की बात करें जहाँ पर जीत-हार का अंतर बहुत अधिक रहा तो उसमें मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर की सीट भी रही. सराज से भाजपा नेता जयराम ठाकुर ने अड़तीस हज़ार एक सौ तिरासी वोटों से जीत हासिल की. वहीं बड़सर से कांग्रेस प्रत्याशी इंद्रदत्त लखनपाल ने तेरह हज़ार सात सौ बान्बे वोटों से जीत मिली. गगरेट से कांग्रेस प्रत्याशी चैतन्य शर्मा को पंद्रह हज़ार से भी अधिक वोटों से जीत मिली जबकि हमीरपुर से निर्दलीय प्रत्याशी आशीष शर्मा बारह हज़ार से भी अधिक वोटों से जीते. कांगड़ा से भाजपा प्रत्याशी उन्नीस हज़ार से अधिक वोटों से जीते जबकि रोहडू से कांग्रेस के मोहन लाल ब्राक्टा उन्नीस हज़ार से अधिक वोटों से जीते.
~
हिमाचल प्रदेश में विधानसभा चुनाव के नतीजे कल आ गए. 68 सीटों वाली विधानसभा में कांग्रेस 40 सीटों के साथ बहुमत पाने में सफल रही है. भाजपा को यहाँ 25 सीटों पर जीत मिली जबकि अन्य के खाते में भी तीन सीटें आयीं. हिमाचल चुनाव से आम आदमी पार्टी को भी उम्मीदें थीं लेकिन यहाँ उसे किसी तरह की कामयाबी हासिल नहीं हुई है.

हिमाचल चुनाव को अगर ज़िलावार समझें तो मंडी में भाजपा ने लगभग एक तरफ़ा जीत हासिल की तो काँगड़ा और शिमला जैसे ज़िलों में उसे बुरी तरह हार का सामना करना पड़ा है. आइये सभी ज़िलों के बारे में हम आपको बताते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *