सन 2000 के दशक में जिन क्रिकेट अंपायर्स का चर्चा था उनमें पाकिस्तानी अंपायर असद रऊफ का नाम भी शामिल रहा. बुधवार को लाहौर से एक दुख’द ख़बर आयी. 66 साल की उम्र में असद ने इस दुनिया को अल’विदा कह दिया. ख़बर के मुताबिक़ उन्हें दिल का दौ’रा प’ड़ा जिसके बाद उनकी मौ’त हो गई.

उनके भाई ताहिर ने इस ख़बर की पुष्टि की. पूर्व अंपायर के भाई ने बताया है कि निध’न से पहले वह अपनी दुकान बंद करके घर जा रहे थे, लेकिन अचान’क से उन्हें कार्डि’यक अरे’स्ट हुआ, और उनका स्वर्गवा’स हो गया. रऊफ साल 2006 से 2013 तक आईसीसी के एलीट अंपायर पैनल के सदस्य रह चुके हैं.

इसके बाद उनके करीयर पर दा’ग़ भी लगा. उनके ऊपर मैच फि’क्सिंग और स्पॉट फि’क्सिंग में शामिल होने का आरो’प भी लगा था. फरवरी साल 2016 में रऊफ को बीसीसीआई (BCCI) द्वारा भ्रष्टा’चार का दो’षी पाया गया. जिसकी वजह से उन्हें पांच साल के लिए क्रिकेट से प्रतिबंधि’त कर दिया गया. पाकिस्तानी अंपायर को औप’चारिक रूप से मुंबई पुलि’स ने साल 2013 में आईपीएल सट्टेबा’जी कां’ड में आरो’पी पाया था.

बता दें असद रऊफ ने इंट’रनेशनल क्रिकेट के कुल 231 मुकाबलों में अंपा’यरिंग की. इसमें 64 टेस्ट, 28 टी20 और 139 वनडे मुकाबले शामिल रहे. पाकिस्तानी अंपायर ने साल 2013 में सभी प्रकार की अंपायरिंग से संन्या’स ले लिया था. असद रऊफ के आक’स्मिक निध’न से हर कोई स्त’ब्ध है. लोग उनके लिए सोशल मीडिया के माध्यम से अपनी-अपनी भाव’नाएं प्रकट कर रहे हैं. यही नहीं रऊफ के चाहने वाले उनके परिवार के प्रति भी अपने संवे’दनाएं व्य’क्त कर रहे हैं, और उनके परिवार को ढाढस बंधा रहे हैं.

By Arghwan Rabbhi

Arghwan Rabbhi is a researcher and journalist.

Leave a Reply

Your email address will not be published.