सीरिया में चल रहा गृह यु’द्ध अमरीका और तुर्की के लिए भी वि’वाद का विषय बनता जा रहा है. लगातार तुर्की और अमरीका के नेताओं के बीच ब’यानबाज़ी का दौर जारी है. कई जानकार इस बया’नबाज़ी को ज़्यादा इम्पोर्टेंस नहीं दे रहे तो कई ऐसे भी हैं जिनको लगता है कि ये आगे चलकर दोनों देशों के लिए ब’ड़ा विवा’द ख’ड़ा कर सकती है. असल में उत्तरी सी’रिया में से’फ़ ज़ो’न बनाने को लेकर विवा’द की स्थिति है.

दोनों देशों के बीच उत्तरी सी’रिया में से’फ़ ज़ोन बनाने को लेकर लम्बे समय से बातचीत चल रही है. ऐसा माना जा रहा है कि अब ये बातचीत अं’तिम दौर में है. इस बीच तुर्की के विदेश मंत्री मेव्लुत जवुसोग्लू ने बयान दिया है कि अमरीका का इसको लेकर स्टाल करना(दे’री करना) काम नहीं करेगा.. ये दुर्भाग्य की बात है कि उन्होंने मंबिज में इस तरह से स्टाल किया..उन्होंने अपना वादा नहीं निभाया.

मंबिज में हुई डील असल में तुर्की और अमरीका के बीच हुई थी जिसका मुख्या बिंदु YPG के ल’ड़ाकों को उत्तरी सीरिया से ह’टाना था. आपको बता दें कि YPG PKK का सीरियन गु’ट है जिसे तुर्की आ’तंकवादी सं’गठन मानता है. तुर्की मानता है कि इस संगठ’न ने तुर्की के 40000 लोगों की जा’न ली है जिसमें बच्चे, महि’लाएँ भी शामिल हैं. विदेश मंत्री ने कहा कि उत्तरी सीरिया में से’फ़ ज़ोन को लेकर अमरीका ने कहा था कि ये 32 किलोमीटर चौ’ड़ा होगा. हालाँकि बाद में अमरीका इतने चौड़े सेफ़ ज़ोन के लिए आनाकानी करने लगा.

7 अगस्त को तुर्की और अमरीका की मिलिट्री ने सेफ़ ज़ोन को लेकर बातचीत की और इसको अंतिम रूप दिया है. इसके अतिरिक्त दोनों देशों ने जॉइंट ऑपरेशन सेंटर बनाने की बात भी की. तुर्की इस अग्रीमेंट को जल्दी से जल्दी लागू करना चाहता है जबकि अमरीका का कहना है कि वो ये अग्रीमेंट स्टेज में लागू होगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *