पटना: बिहार के पूर्व सांसद मुहम्मद शहाबुद्दीन की मौ’त ने बिहार की सियासत को गरमा दिया है. उनके नि’धन के बाद कई तरह के आ’रोप-प्रत्या’रोप का दौर शुरू हो गया है. बताया गया कि राजद के पूर्व सांसद मोहम्मद शहाबुद्दीन का को’रोना संक्रमण की वजह से नि’धन हो गया है दरअसल मोहम्मद शहाबुद्दीन दिल्ली की तिहाड़ जेल में स’जा का’ट रहे थे और वहीं पर वह करुणा संक्रमण की च’पेट में आ गए।

पुलिस प्रशासन द्वारा उन्हें अस्पताल में भर्ती करवाया गया था जहां उनका इलाज भी हुआ। लेकिन इसके बावजूद उन्हें बचाया नहीं जा सका। इसके बाद मोहम्मद शहाबुद्दीन के अंति’म सं;स्कार को लेकर भी पेंच फंस गया है। दरअसल मोहम्मद शहाबुद्दीन के परिजन अंतिम संस्कार उनकी जन्मस्थली बिहार के सिवान में करवाने को लेकर अड़े हुए हैं और यही कोशिश कर रहे हैं कि उनकी मांग को स्वीकार किया जाए। लेकिन प्रशासन ने मोहम्मद शहाबुद्दीन के शव को सिवान लाने से इंकार कर दिया है।

इस कड़ी में मोहम्मद शहाबुद्दीन के बेटे ओसामा शहाब ने सोशल मीडिया साइट ट्विटर पर कई ट्वीट करते हुए बिहार की सियासत में ख’लबली म’चाने का काम कर दिया है। दरअसल ओसामा साहब ने सीधे तौर पर राजद नेता तेजस्वी यादव को चे’तावनी दे डाली है।

ओसामा शहाब ने ट्वीट करते हुए लिखा है कि अगर हमारे अब्बू डॉ शहाबुद्दीन साहब अपनी जन्मभूमि सि’वान में द’फन नहीं हुए तो तेजस्वी यादव की राजनीति हमेशा के लिए जमीन में द’फन हो जाएगी, इंशाअल्लाह!

एक अन्य ट्वीट में ओसामा शहाब ने लिखा कि अगर शहाबुद्दीन साहब की जगह कोई यादव होता तो अब तक तेजस्वी अपने सारे विधायकों को लेकर दिल्ली पैदल आ गया होता। ओसामा शहाब ने यह भी लिखा कि आज हमारे साथ RJD का एक भी नेता खड़ा नहीं दिख रहा है। पहले हमारी ल’ड़ाई आरएसएस/भाजपा (RSS/BJP) से थी। जो अब राजद (RJD) से भी हैं!

शहाबुद्दीन के बेटे यह भी कहा कि मैं यह नहीं कहता की मेरे को फॉलो करो मेरी पोस्ट को शेयर करो। लेकिन आप सब से इतनी ही गुजारिश हैं सब लोग एक साथ मिल कर मिल कर मेरे अब्बू के लिए आवाज उठाएं। हम ने जिन लोगों पर भरोसा किया वो लोग अब बिक चुके हैं। आपको बता दें कि मोहम्मद शहाबुद्दीन के बेटे द्वारा राजद नेता तेजस्वी यादव को दी गई चेतावनी पर अभी तक तेजस्वी यादव की कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है।

इस मामले में जन अधिकार पार्टी के प्रमुख पप्पू यादव ने जरूर पति गिरा दी है उन्होंने लिखा है कि ओसामा नि’श्चित रूप से आपके पिता को उनकी जन्मभूमि में सु’पुर्द-ए-खाक होना चाहिए। सियासत का तो नहीं पता, पर यह उनका ही नहीं, बल्कि हर नागरिक का सं’वैधानिक अधिकार है। मैं दिल्ली के सीएम केजरीवाल और लेफ्टिनेंट गवर्नर अनिल बैजल साहब से इस संबंध में संपर्क कर रहा हूं। (साभार- वायरल क्लिक)

By Arghwan Rabbhi

Arghwan Rabbhi is a researcher and journalist.

Leave a Reply

Your email address will not be published.