डेली मेल की रिपोर्ट के मुताबिक तालिबान अमेरिकी सै’निकों द्वारा छोड़े गए उन्नत ह’थियारों का इस्तेमाल अफगानिस्तान के अपने कब्जे के प्रतिरोध के आखिरी हिस्सों को कु’चलने के लिए कर रहा है। देश के पूर्व उपराष्ट्रपति के नेतृत्व में ल’ड़ाके कल रात पंजशीर घाटी में नए शासन की ताकतों के खिलाफ अंतिम बचाव कर रहे थे, एकमात्र प्रांत जिसे इस्लामी समूह ने कब्जा नहीं किया है।


लेकिन विद्रोही तालिबान ल’ड़ाकों द्वारा अमेरिकी बख्तरबंद वाहनों, मोर्टार मिसाइलों और उच्च शक्ति वाले तोपखाने का उपयोग करते हुए दिखाई दिए। रिपोर्ट में कहा गया है कि वीडियो में तालिबान के बंदूकधारियों को अमेरिकी सेना की एम4 और एम16 राइफलों की ब्रांडिंग करते और नाइट विजन गॉगल्स पहने हुए दिखाया गया है।

अमेरिकी बख्तरबंद वाहनों में यात्रा कर रहे तालिबान सैनि’कों के एक काफिले को कल रात उस क्षेत्र की ओर जाते हुए फिल्माया गया, जहां प्रतिरोध ल’ड़ाके काबुल से 70 मील उत्तर में अपनी जमीन पर कब्जा कर रहे थे। ऐसी भी खबरें थीं कि तालिबान बलों ने पंजशीर की राजधानी बाजारक में प्रवेश किया था।

एनआरएफ ने पिछले 24 घंटों में 600 तालिबान ल’ड़ाकों को मार गिराने का दावा किया है, लेकिन तालिबान ने दावा किया कि यह जीत के कगार पर है और रिपोर्ट में कहा गया है कि प्रांत के पांच में से चार जिले तालिबान के नियंत्रण में आ गए हैं। तालिबान के कुछ दिनों में घोषणा करने की उम्मीद है कि उसका नेता मुल्ला हिबतुल्ला अखुंदजादा अफगानिस्तान का सर्वोच्च नेता होगा।

By Arghwan Rabbhi

Arghwan Rabbhi is a researcher and journalist.

Leave a Reply

Your email address will not be published.