Joota na pahanne par vivaad Shahnawaz Alam Ka Bayan

लखनऊ, 10 मार्च 2023 प्रदेश के नगर निगम चुनाव में पिछड़े वर्ग को आरक्षण देने के लिए योगी सरकार ने जिस आयोग का गठन किया गया था, रिपोर्ट सौंपने वाले आयोग के पांचों पिछड़े वर्ग के सदस्य जूता उतार कर और योगी जी और उनके अधीनस्थों ने जूता पहन कर रिपोर्ट लिया (Joota na pahanne par vivaad)। उक्त मामले को लेकर कांग्रेस पिछड़ा वर्ग विभाग के अध्यक्ष मनोज यादव ने योगी सरकार को कठघरे में खड़ा करते हुए भाजपा और योगी आदित्यनाथ को पिछड़ा विरोधी मानसिकता करार दिया।

मनोज यादव ने आगे कहा कि जिस आयोग के सदस्य जूता पहनकर योगी जी के सामने नहीं खड़े हो सकते वह पिछड़े वर्ग के अधिकार के लिए क्या रिपोर्ट दिए होंगे ?आप लोग खुद ही अंदाजा लगा लीजिए। रिटायर्ड जस्टिस राम अवतार सिंह आयोग के अध्यक्ष सदस्यों में चोब सिंह वर्मा, महेंद्र कुमार, संतोष विश्वकर्मा और ब्रजेश सोनी है..इन पिछड़े वर्ग के आयोग के लोगों की हैसियत इतनी भी नहीं है कि यह जूता पहन कर योगी जी के समक्ष खड़े हो सके।

अध्यक्ष मनोज यादव ने कहा कि यह कृत्य बताता है कि भाजपा सहित योगी आदित्यनाथ पिछड़ों को अपना हलवाहा समझते है। उनकी हैसियत मात्र वोट देने भर की है। यह पिछड़ों के मानसम्मान और अस्मिता का अपमान है जो योगी जी बार-बार करते हैं। उन्होंने आगे एक शेर भी कहा-“जिन्हें जूता तक मयस्सर नहीं है अपने पांव में, वो क्या पिछड़ो को हक देगे नगर निगम चुनाव में”. (Joota na pahanne par vivaad)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *