नई दिल्ली: दिल्ली के निजामुद्दीन स्थित तबलीगी जमात के अमीर मौलाना मुहम्मद साद को पुलिस ने एक और नोटिस भेजा है. पहले नोटिस में दिल्ली पुलिस ने साद से 26 सवालों के जवाब मांगे थे। पुलिस ने दूसरे नोटिस में जमात चीफ से केवल जानकारी मांगी है। उल्लेखनीय है कि कोरोना वायरस को लेकर मीडिया को जब निज़ामुद्दीन में कुछ मामलों का पता चला तो मीडिया ने उसको इस तरह से रिपोर्ट किया जिसकी निंदा भारत ही नहीं दुनिया में भी की गई.

गौरतलब है कि निजामुद्दीन स्थित मरकज में जमात के कार्यक्रम में हजारों लोग शामिल हुए थे जिनमें से कई लोगों की कोरोना वायरस के कारण मौत हो गई थी। मरकज के खाली कराने के बाद ही साद लापता है। दिल्ली पुलिस के सूत्रों ने बताया कि सीआरपीसी के सेक्शन 91 के तहत जमात प्रमुख मौलाना साद को दूसरा नोटिस भेजा गया है। साद ने पहले नोटिस का जवाब अपने वकील के जरिए भेजा था और उसने दिल्ली पुलिस को कुछ कागजात और जानकारियां दी थीं।

उसके ज्यादातर कागजात उर्दू में थे। इसके बाद दिल्ली पुलिस ने अब मौलाना साद को दूसरा नोटिस भेजा है। कुछ दिन पहले मौलाना साद ने एक विडियो जारी कर खुद को क्वारंटीन में बताया था। तबलीगी जमान के सैकड़ों लोग कोरोना वायरस से पीड़ित पाए गए हैं। अकेले दिल्ली में इनका आंकड़ा 200 के पार है। इसके अलावा इस जमात के लोगों के संपर्क में आने से कई अन्य जगह पर कोरोना का संक्रमण फैला है। राज्य सरकारें जमात में शामिल लोगों को अलग-अलग जगहों पर क्वारंटीन में भेज रखा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *