को’रोना वा’यरस को लेकर पूरी दुनिया चिंता में है. इसकी रोकथाम के लिए फ़िलहाल जो दो मेथड काम में आ रहे हैं उनमें से एक है लॉक डाउन और दूसरा है ज़्यादा से ज़्यादा टेस्टिंग. हालाँकि हर देश में इस तरह से रैपिड टेस्टिंग कराना संभव नहीं हो पा रहा है. कई जगह पर टेस्टिंग मशीनें ही कम हैं तो कहीं जो हैं उनमें ख़ामियाँ निकल आ रही हैं. संयुक्त राज्य अमरीका में लेकिन टेस्टिंग बड़े पैमाने पर हो रही है. अमरीका में 62 लाख से अधिक लोगों की कोरो’ना-टेस्टिंग की गई है.

चूंकि टेस्टिंग बड़ी संख्या में हुई है, इसलिए अमरीका में संक्रमित लोगों की संख्या भी अधिक नज़र आती है. अमरीका में 10 लाख से अधिक लोग को’रोना संक्रमण हुआ है, इनमें से क़रीब डेढ़ लाख लोग पूरी तरह स्वस्थ हो गए हैं जबकि 62 हज़ार से अधिक लोग कोरो’ना से जंग नहीं जीत सके. टेस्टिंग के फ़ायदे को समझते हुए अमरीका के शहर लोस एंजेल्स ने तय किया है कि वो शहर के हर इंसान की को’रोना-टेस्टिंग करेंगे.

बुधवार के रोज़ मेयर एरिक गर्सती ने कहा कि चाहे किसी के लक्षण दिखें या न दिखें, कोरो’ना वायर’स की टेस्टिंग की जायेगी. गर्सती ने कहा कि ये सिर्फ़ शहर के लोगों पर लागू होगा लेकिन आने वाले समय में लोग एंजेल्स काउंटी के लिए भी इस तरह का प्लान लेकर आया जाएगा. उन्होंने एक प्राइवेट चैनल से बात चीत में ये जानकारी दी. उन्होंने उम्मीद जताई कि इससे को’रोना-संक्रमित व्यक्तियों का इलाज भी समय रहते शुरू हो पायेगा और साथ ही जो लोग संक्रमित नहीं हैं उन्हें संक्रमण से बचाया जा सकेगा.

LA के नाम से मशहूर इस शहर की आबादी एक करोड़ तीस लाख के क़रीब है. अब तक यहाँ 22 हज़ार से अधिक कोरो’ना केसेस की पुष्टि हो चुकी है और LA में 1056 लोगों की मौ’त इस वाय’रस के कारण हुई है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *