देश के 5 राज्यों में अगले साल विधानसभा चुनाव होने वाले हैं। ऐसे में इससे पहले कांग्रेस में नेताओं के दल बदलने का सिलसिला शुरू हो गया है। हाल ही में उत्तर प्रदेश में ब्राह्मण वोट बैंक के लिए महत्वपूर्ण माने जाने वाले जितिन प्रसाद ने कांग्रेस को छोड़कर भारतीय जनता पार्टी का दामन थाम लिया है।

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव से पहले जितिन प्रसाद द्वारा उठाए गए इस कदम से कांग्रेस को बड़ा झटका लगा है। इसी बीच भाजपा लगातार इस कोशिश में है कि कांग्रेस के ज्यादा से ज्यादा नेताओं को तोड़ा जा सके। राहुल गांधी के करीबी माने जाने वाले जितिन प्रसाद ने पार्टी को अलविदा कहने से प्रियंका गाँधी को भी झटका लगा है।

माना जा रहा है कि उत्तर प्रदेश के चर्चित चेहरे जितेन बरसात के बाद अब राजस्थान के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के दिग्गज नेता सचिन पायलट के भी पार्टी को अलविदा कहने की आशंका जताई जा रही है 25 सालों तक कांग्रेस में रही और फिलहाल भाजपा नेता रीता बहुगुणा ने यह दावा किया है। उन्होंने कहा है कि सचिन पायलट जल्द ही भाजपा में प्रवेश करेंगे। मेरी उनसे फ़ोन पर बात हुई है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी अब उत्तर प्रदेश में समाप्त हो रही है।

सचिन पायलट कांग्रेस ने नाराज बताये जा रहे हैं। कुछ महीने पहले उन्होंने खुलेआम नाराजगी व्यक्त की थी। उस वक़्त उन्हें समझा लिया था। लेकिन उस वक़्त पायलट को दिया गया आश्वासन अभी तक पूरा नहीं हुआ है। जितिन प्रसाद ने बुधवार की दोपहर भाजपा में प्रवेश किया। भाजपा के दिल्ली स्थित मुख्यालय में पार्टी प्रवेश कार्यक्रम हुआ।

केंद्रीय मंत्री पियूष गोयल ने पुष्प गुच्छ देकर उनका स्वागत किया। भाजपा में प्रवेश के बाद जितिन प्रसाद ने भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जे पी नड्डा और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात करने उनके घर गए। उन्होंने पार्टी छोड़ने के सवाल पर कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भव्य भारत का निर्माण कर रहे है। इस कार्य में योगदान देने के लिए मैंने भाजपा में प्रवेश किया है।

इसी को लेकर जब सचिन पायलट से सवाल किया गया तो उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि रीता बहुगुणा जोशी ने कहा कि हमने सचिन से बात की है, हो सकता है कि उन्होंने सचिन तेंदुलकर से बात की हो। उनमें मुझसे बात करने की हिम्मत नहीं है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *