लखनऊ: अयोध्या में श्री राम जन्मभूमि ट्रस्ट द्वारा मंदिर बनाने के लिए 2 करोड़ की जमीन साढ़े 26 करोड़ में खरीदने का वि’वाद अभी थमा भी नहीं कि अब एक और बड़ा विवाद खड़ा हो गया। श्री राम मंदिर निर्माण के लिए ज़मीन खरीदने को लेकर आये दिन नए खु’लासे हो रहे हैं। कांग्रेस, समाजवादी पार्टी और आम आदमी पार्टी राम जन्मभूमि ट्रस्ट के आरोपी ट्रस्टियों के साथ बीजेपी नेताओं पर भी खुलकर निशाने साध रहे हैं। इसी बीच आम आदमी पार्टी के सांसद संजय सिंह ने राम मंदिर के लिए खरीदी जा रही जमीन में घोटाले के सबूत तो सामने रखे ही हैं इसके अलावा उन्होंने अब अयोध्या से बीजेपी के मेयर ऋषिकेश उपाध्याय समेत उनके परिवार से जुड़े लोगों पर भी आ’रोप लगाएं हैं।

लखनऊ में मीडिया से बातचीत के दौरान संजय सिंह ने कहा, अयोध्या में भाजपा के मेयर ऋषिकेश उपाध्याय के भतीजे दीप नारायण ने बीते 20 फरवरी 2021 को पहले 35.6 लाख की मालियत वाली जमीन को केवल 20 लाख रुपये में खरीदा। उसके बाद उन्होंने उस ज़मीन को 11 मई 2021 को ढाई करोड़ में राम मंदिर ट्रस्ट को बेच दिया।
इसके अलावा अयोध्या के कोट रामचंदर में जगदीश प्रसाद को 14.80 लाख की मालियत वाली ज़मीन महंत देवेंद्र प्रसाद से महज़ 10 लाख रुपये में मिल गई, लेकिन राम जन्मभूमि ट्रस्ट को 1 करोड़ 60 लाख की ज़मीन 4 करोड़ में दी गई।

संजय सिंह के अनुसार, बीजेपी मेयर ऋषिकेश उपाध्याय और उनका भतीजा इस पूरी धां’धलेबाजी के ज़िम्मेदार हैं। उन्होंने कहा, “आम आदमी पार्टी की योगी सरकार से मांग है कि भाजपा के मेयर ऋषिकेश उपाध्याय और राम मंदिर की जमीन में घोटाले के आरोपी ट्रस्टियों के साथ उनके परिवार से जुड़े लोगों के खातों की जांच कराई जाए, जिससे चंदा चोरी का पूरा खेल उजागर हो जाएगा”। उन्होंने यह भी कहा कि राम मंदिर निर्माण के लिए देश के करोड़ो गरीबो, किसान, आम आदमी ने पेट का’टकर चंदा दिया लेकिन बीजेपी नेता उनके चंदे की चोरी कर रहे हैं। इतने खु’लासे के बाद भी कोई कार्यवाई नही हुई। इसका मतलब यह है कि सरकार इन चंदा चो’रों को बचाना चाहती हैं।

By Arghwan Rabbhi

Arghwan Rabbhi is a researcher and journalist.

Leave a Reply

Your email address will not be published.