लखनऊ. उत्तर प्रदेश सरकार ने एक अहम् फ़ैसला लेते हुए एनपीआर की प्रक्रिया को रोक दिया है. कोरोना वायरस महामारी के चलते योगी आदित्यनाथ सरकार ने ये क़दम उठाया है. ख़बर के मुताबिक़ सरकार ने अगले आदेश तक इसे रोक दिया है. प्रदेश में कोरोना संकट को देखते हुए अगले आदेश तक यह रोक लगाई गई है. यूपी सरकार की ओर से इस बाबत आदेश जारी कर दिए गए हैं. इसमें साफ़ कहा गया है कि फ़िलहाल राष्ट्रीय जनसँख्या रजिस्टर 2021 के कामों को रोका जाए.

उत्तर प्रदेश के सभी ज़िलों और मंडलायुक्तों को इस बारे में सूचना दे दी गई है. इसके पहले 25 मार्च से ही केंद्र सरकार ने इसको रोकने के लिए निर्देश जारी किया था. गृह मंत्रालय की ओर से इस बारे में बताया गया था कि कोरोना संकट को देखते हुए एनपीआर और जनगणना का कार्य अगले आदेश तक रोका जा रहा है. गृह मंत्रालय के इसी आदेश के मद्देनजर अब उत्तर प्रदेश सरकार ने भी NPR का काम रोकन के आदेश जारी किए हैं.

जानकारी के लिए बता दें कि गृह मंत्रालय के आदेश में ये कहा गया था कि राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर को अपडेट किए जाने और वर्ष 2021 की जनगणना के पहले चरण का काम कोरोना संकट की वजह से निर्धारित समय पर नहीं शुरू हो पाएगा. देश में कोरोना वायरस के चलते लॉक डाउन चल रहा है जिसकी वजह से सभी तरह के काम रुके हुए हैं. सरकार से जुड़े सूत्र बता रहे हैं कि फ़िलहाल सबसे ज़रूरी कोरोना वायरस महामारी से मुक़ाबला करना है. इसीलिए सरकार अभी बाक़ी कामों को रोक रही है. आपको बता दें कि एनपीआर के कई प्रावधान के ख़िलाफ़ देश में प्रदर्शन होते रहे हैं. शाहीन बाग़ में महिलाओं ने लम्बे समय तक धरना दिया था, लॉक डाउन की घोषणा के बाद उन्होंने अपना धरना रद्द कर दिया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *