रियाद: यमन में लम्बे समय से गृह यु’द्ध चल रहा है लेकिन पिछले कुछ दिनों में इस तरह की ख़बरें भी आयी हैं कि ये गृह यु’द्ध जल्द ही ख़’त्म हो सकता है. असल में इसके ख़’त्म होने के पीछे कई कारण बताये जा रहे हैं. एक तो ये कि UAE की फ़ौ’ज अब और ल’ड़ना नहीं चाहती. UAE का मानना है कि यमन के गृह यु’द्ध से न तो उसे और न ही सऊ’दी अ’रब को ही कुछ हा’सिल हुआ है.

वहीं पिछले कुछ महीनों में जिस प्रकार से हौ’थी वि’द्रोहियों ने ब’ढ़त बनाई है, UAE को लगता है कि अब इसमें बहुत समय लगाने का मतलब नहीं है. दक्षिणी यमन में सऊ’दी अरब और UAE में आपसी मत’भेद भी उभर कर आ गए जिसको सु’लझाने के लिए भी आनन्-फानन में क़’दम उठाये गए. स’ऊदी अरब नहीं चाहता कि UAE जं’ग छोड़े लेकिन UAE के पूरी तरह से जं’ग से हट जाने पर स’ऊदी अरब सं’धि चाहता है.

सऊ’दी अरब और ईरान के बीच बातचीत का दौर भी शुरू हो गया है. असल में हौथी विद्रो’हियों को ईरान का सम’र्थन प्राप्त है जबकि स’ऊदी अरब यमन की अन्तर्राष्ट्रीय मा’न्यता प्राप्त सरकार के लिए ल’ड़ रहा है. इस तरह की ख़बरें भी आयी हैं जिसमें स’ऊदी अरब की सरकार ईरान से यु’द्ध समा’प्ति की ये शर्त रख रही है कि यु’द्ध में उसे हा’रा हुआ न बताया जाए. असल में लगातार चली ल’ड़ाई के बाद सऊ’दी अरब और UAE की से’ना भी थक चुकी है.

ताज़ा ह’मला
इस बीच जु’मे के रोज़ ये समाचार प्राप्त हुआ कि यमन से एक ड्रोन लांच किया गया जिसका नि’शाना दक्षिणी स’ऊदी अरब का अभा एअरपोर्ट था. इस ड्रो’न क अमरान से लां’च किया गया था. अमरान हौथी वि’द्रोहियों के कण्ट्रोल में है. जानकार मानते हैं कि ये अंतिम दौ’र की ल’ड़ाई है. सऊ’दी अरब और UAE दोनों ही अब आगे यु’द्ध में सं’घर्ष नहीं करना चाहते. वो चाहते हैं कि यमन के अलग-अलग गु’ट साथ में बैठ कर मुद्दे का हल नि’काल लें. इस बीच हौ’थी टैक्टि’कल एड’वांटेज हा’सिल करने के लिए छु’ट-पु’ट ह’मले कर रहा है.

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *