जब किसी से मोहब्बत होने लगे तो सदका दिया करें मोहब्बत होगी तो मिल जाएगी बला होगी तो टल जाएगी, जहां मोहब्बत हो वहां ऐब नहीं देखे जाते और जहां ऐब देखे जाते हैं वहां मोहब्बत नहीं होती, लोगों को खोने से ना डरो, डरो इस बात से कहीं तुम लोगों को खुश करते करते खुद को ना खोदो, परिंदे अपने पांव और इंसान अपनी जबान की वजह से जाल में फंसते हैं बातचीत में नरमी इख्तियार करो क्योंकि लहजे का असर अल्फाज से ज्यादा होता है।


जमीन के सफर में अगर कोई चीज आसमानी है तो वह मोहब्बत है, कभी सोचा है गंदे पर उठाने वाले मिट्टी में मिला देते हैं, अपने ख्यालों की हिफाजत करो क्योंकि यह तुम्हारे अल्फाज बन जाते हैं, अपने अल्फाज की हिफाजत करो क्योंकि यह तुम्हारे आमाल बन जाते हैं, अपने आमाल की हिफाजत करो क्योंकि यह तुम्हारा किरदार बन जाता है, अपने किरदार की हिफाजत करो क्योंकि यह तुम्हारी पहचान बन जाता है।


बेइज्जती का जवाब इतनी इज्जत से दें कि सामने वाला खुद ही शर्मिंदा हो जाए, गहरी बातें समझने के लिए गहरा होना पड़ता है और गहरा होने के लिए गहरी चोटें खानी पड़ती है अच्छी किताबें और अच्छे लोग फौरन समझ में नहीं आते उन्हें समझना पड़ता है, आंसू का जारी ना होना दिल के सख्त होने की वजह से है, दिल की सख्ती गुनाहों की कसरत की वजह से है, गुनाहों की कसरत मौत को भुला देने की वजह से है, मौत से गफलत लंबी उम्मीदों की वजह से है, लंबी उम्मीदें दुनिया की मोहब्बत की वजह से है, दुनिया से मोहब्बत हर गुनाह की जड़ है।


याद करता है कौन यहां किसी को भला, खुदा को भूल जाने वाले खुदा की कसम किसी के नहीं होते, जिन औरतों के पति शहर से बाहर या मुल्क से बाहर नौकरी करते हैं और बिना वजह वो अपने शौहर को फोन करके तंग करती रहती हैं घर की छोटी-छोटी बात मिर्च मसाला लगाकर उन तक पहुंचाती हैं, ऐसी औरतें याद रखें कि उनके पति खुशी से बाहर नहीं रहते अपने घर वालों को खुशियां और राहत देने के लिए गए हैं अगर उसे कोई खुशी की खबर नहीं सुना सकती तो बेकार और बे फायदा की लड़ाई ना लगाएं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *