सोनम ने फ़वाद ख़ान पर दिया बड़ा बयान..बढ़ सकती है..

सोनम कपूर इंडस्ट्री में अपनी एक अलग ही पहचान रखती हैं। फ़िल्म की चॉइस से उन्होंने अपना एक मुक़ाम हासिल किया है । जितनी सोनम अपने फ़ैशन की वजह से चर्चा में रहती हैं उतनी ही चर्चा में रहती हैं अपने बयानों की वजह से भी। सोनम कभी ये नहीं सोचती कि उनके बयान का क्या असर होगा बल्कि वो अपनी बात साफ़ कहने में विश्वास रखती हैं। इसी बयान के सिलसिले में एक बयान हाल ही में सोनम ने जोड़ा है जिससे बॉलीवुड के हीरो उनसे नाराज़ हो सकते हैं।

हाल ही में सोनम ने पाकिस्तानी कलाकार फ़वाद ख़ान को लेकर एक बड़ी बात कही। सोनम ने कहा कि जब ख़ूबसूरत फ़िल्म के लिए मेल कास्ट की खोज हो रही थी तो कोई भी बॉलीवुड हीरो इस रोल में काम करने को तैयार नहीं था। सोनम ने कहा कि इसका बड़ा कारण है ये फ़िल्म विमन ओरिएँटेड थी और हीरो के लिए फ़िल्म में कुछ करने को ही नहीं था। सोनम ने आगे कहा कि हमें फ़वाद को लाना पड़ा क्योंकि यहाँ कोई इस फ़िल्म में काम करने के लिए राज़ी नहीं था। फ़वाद ख़ान इस फ़िल्म में काम करने के लिए राज़ी हुए और उसके बाद उनका करियर भी चल निकला। सोनम फ़वाद की तरफ़दारी करते हुए आगे कहती हैं कि फ़वाद इतना सिक्योर थे इसलिए उसे इस बात से डर नहीं लगा कि फ़िल्म विमन ओरिएँटेड है।

Fawad Khan- Sonam Kapoor

सोनम ने आगे कहा कि लोग कहते हैं कि वो चाँदी का चम्मच मुँह में लेकर पैदा हुई हैं और उन्हें किसी तरह का स्ट्रगल नहीं करना पड़ा। सोनम ने कहा कि भले ही लोग कुछ भी कहें सच्चाई ये है कि मैंने अपनी हर फ़िल्म के लिए ऑडिशन दिया। अपने ऑडिशन के दिनों को याद करते हुए सोनम बताती हैं कि उन्हें तो याद भी नहीं उन्होंने कितनी जगह ऑडिशन दिए। सोनम का कहना है कि उन्हें साँवरिया, दिल्ली 6 और आगे हर फ़िल्म उनकी अपनी मेहनत पर ही मिली है।

Sonam Kapoor

सोनम अपने आयशा के दिनों को याद करते हुए बताती हैं कि उनकी फ़िल्म आयशा भी एक लड़की की कहानी थी जिसके लिए भी मेल लीड ढूँढने में उन्हें काफ़ी मेहनत करनी पड़ी थी। ग़ौरतलब हो कि आयशा में बतौर मेल लीड अभय देओल ने काम किया था लेकिन बाद में उन्होंने सोनम के ख़िलाफ़ बयान दिए थे, जिससे सोशल मीडिया में सोनम के पिता अनिल कपूर ने उन्हें खरीखोटी सुनाई थी। बाद में अभय ने कभी सोनम के साथ काम न करने की बात तक कही थी। ख़ैर सोनम के बयान का अक्सर ग़लत असर पड़ता है और बाद में पापा अनिल कपूर मामले में कूदते हैं। इस बार ऐसा कुछ होगा या नहीं ये तो आने वाला वक़्त ही बताएगा।

About Arghwan Rabbhi

Arghwan Rabbhi is a researcher and journalist.

View all posts by Arghwan Rabbhi →

Leave a Reply

Your email address will not be published.