सोमवार को राष्ट्रीय पुरस्कार पद्म पुरस्कारों से सम्मानित किया गया, सोमवार को नई दिल्ली में देश के महामहीम राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने 119 हस्तियों को असाधारण और प्रतिष्ठित सेवा के लिए पद्म पुरस्कारों से सम्मानित किया. इस साल 7 हस्तियों को पद्म विभूषण जबकि 10 को पद्म भूषण से सम्मानित किया गया है. वहीं 102 लोग ऐसे है जिनको पद्म श्री अवॉर्ड से नवाजा गया है. वहीं पद्म पुरस्कार प्राप्त करने वाली हस्तियों में 29 महिलाएं भी शामिल हैं. वहीं यह सम्मान 16 लोगों को मर’णोप’रांत दिया गया है. वहीं बॉलीवुड की बात करें तो बॉलीवुड कलाकारों में चार हस्तियों को यह सम्मान से नवाज़ा गया है. बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत, गायक अदनान सामी और फिल्म निर्माता एकता कपूर और करण जौहर को भी इस अवार्ड से सम्मानित किया गया है.

अब सवाल ये है की जब कंगना को पद्मश्री को सोनू को क्यों नहीं? फिल्म जगत की बेबाक क्वीन कहे जानी वाली अभिनेत्री कंगना रनौत ने पुरस्कार मिलने पर ख़ुशी जाहिर की और अपने फैंस और फालोअर्स के लिए एक वीडियो मैसेज भी जारी किया. इस दौरान उन्होंने कहा कि पद्म श्री दिखाता है कि कैसे वो एक आदर्श नागरिक के तौर पर महत्व रखती हैं. सोशल मीडिया पर कंगना के इस वीडियो पर जमकर प्रतिक्रिया देखने को मिल रही है. एक तरफ उनके फैंस इस सम्मान पाने पर काफी खुश नजर आ रहे हैं, तो वहीं बड़ी तादात में ऐसे यूजर भी शामिल है जो कंगना को यह सम्मान मिलने पर सवाल खड़े करते नजर आ रहे हैं.


सोशल मीडिया पर एक वर्ग इससे नाखुश नजर आए, साथ ही उन्होंने बॉलीवुड अभिनेता सोनू सूद को पद्मश्री सम्मान नहीं मिलने पर नाखुशी जाहिर की. अमरउजाला के अनुसार एक यूजर ने लिखा कि जब कंगना रनौत को पद्मश्री मिल सकता है तो कोरोनाकाल में जरूरतमंद लोगों की मदद करने वाले सोनू सूद को क्यों नहीं? सोशल मीडिया पर इस तरह की प्रतिक्रिया बड़ी तादात में देखने को मिल रही है.

आपको बता दें कि हर साल 26 जनवरी को पद्मा सम्मान के लिए लिंग, जाती, स्थिति या व्यवसाय के भेद के बिना उच्च क्रम के विशिष्ट सेवा देने वालों की लिस्ट जारी की जाती है. सोमवार को जो सम्मान दिये गए है वो साल 2020 के थे. वहीं साल 2021 में घोषित किये गए पद्म सम्मान में बॉलीवुड से कोई भी नाम शामिल नहीं रहा. बता दें कि साल 2021 की लिस्ट में बॉलीवुड से कोई हस्ती शामिल नहीं थी. इतनी बड़ी फिल्म इंडस्ट्री से किसी भी कलाकार, संगीतकार, गायक या टेक्नीशियन को पुरस्कार नहीं दिया गया. शायद यह पहला ऐसा मौका रहा है जब फिल्म इंडस्ट्री में कोई भी इस साल यह सम्मान पाने योग्य नहीं समझा गया हो.

वहीं साल 2021 के पुरस्कारों की लिस्ट में सोनू सूद का नाम शामिल होने की उम्मीदें लगाई जा रही है. कोरोनाकाल के दौरान सोनू सूद ने मुंबई में अपने घरों से दूर फंसे हुए हजारों प्रवासियों को उनके घरों तक सुरक्षित पहुंचाने के लिए बस, रेल और प्लेन का इंतजाम किया था. सोनू सूद लंबे वक्त से मानवता कार्य में जुटे हुए है और जरुरतमंदों को हरसंभव मदद मुहैया करा रहे है, लेकिन इसके बाद भी उन्हें सम्मान के योग्य नहीं माना गया. सोशल मीडिया पर लोगों ने सवाल किया कि ऐसे व्यक्तित्व को सरकार भला कैसे भूला सकती हैं? कोरोना काल के दौरान अभिनेता सोनू सूद के अदम्य साहस, अतुलनीय और अभूतपूर्व जनसेवा को देखते हुए कई हस्तियों ने उन्हें पद्म सम्मान दिए जाने की मांग उठाई थी. इसके लिए बाकायदा केंद्रीय गृह मंत्रालय का नामांकन पत्र भी भरा गया था लेकिन शायद सोनू सूद को पद्म पुरस्कारों की चयन समिति ने अपनी कसौटी पर खरा नहीं पाया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *