कोलकाता: पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता के सरकारी अस्पताल में डॉक्टरों के साथ हुई हिंसा के बाद देश भर में विरोध प्रदर्शन का सिलसिला जारी है. इस बारे में दिल्ली, मुंबई से लेकर राजस्थान, केरल और अन्य राज्यों में भी इस बारे में विरोध प्कारदर्शन जारी रहे. इस मामले में अब राजनीतिक दलों की भी खींचतान तेज़ हो गई है.

केन्द्रीय स्वास्थ मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर निशाना साधते हुए कहा”डॉक्टरों को वो ध’मका रही हैं. उन्हें हड़ताल खत्म करने के लिए कदम उठाना चाहिए.” वहीं दूसरी पश्चिम बंगाल में डॉक्टरों में इस पूरे मामले को लेकर रोष है. कई डॉक्टरों ने इस्तीफ़ा भी दिया है. अब इस बारे में पश्चिम बंगाल के गवर्नर ने बयान दिया है.

पश्चिम बंगाल के गवर्नर केशरी नाथ त्रिपाठी ने इस बारे में कहा कि मैंने मुख्यमंत्री से बात करने की कोशिश की..उन्हें कॉल किया था लेकिन अब तक उनकी तरफ़ से कोई रिस्पोंस नहीं आया. उन्होंने कहा कि यदि वो फ़ोन करती हैं तो हम इस बारे में डिस्कस करेंगे. उन्होंने कहा कि मैंने उन्हें कॉल किया है..उन्हें आने दीजिए.

आपको बता दें कि केन्द्रीय स्वास्थ मंत्री हर्षवर्धन शनिवार को देश के सभी मुख्यमंत्रियों को पत्र लिखकर अस्पतालों में डॉक्टरों को सुरक्षित माहौल मुहैया कराने की गुजारिश करेंगे. हर्षवर्धन ने कहा, “दिल्ली के जो डॉक्टर हड़ताल पर हैं उनसे अपील करेंगे कि जो उन्होंने शपथ लिया था उसे याद करते हुए हड़ताल वापस लें.” हर्षवर्धन ने कहा,”विरोध का सांकेतिक तरीका हड़ताल के अलावा दूसरा भी हो सकता है. सबसे अपील हड़ताल खत्म करें. सेफ एनवायरनमेंट की कोशिश होनी चाहिए.”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *