लंदन: भारत के पूर्व भारतीय सलामी बल्लेबाज वसीम जाफर ने भारतीय बल्लेबाजों को सलाह दी है कि वो गजनी फ़िल्म के आमिर खान बन जाएं। जिस तरह से फ़िल्म में आमिर को सिर्फ बदला लेना ही याद रहता था। उसी तरह भारतीय बल्लेबाजों को बैटिंग करते समय हर पुरानी गेंद को भूलना होगा। ये सलाह वसीम जाफ़र ने इंग्लैंड में भारत और न्यूजीलैंड के बीच चल रही वर्ल्ड टेस्ट चैम्पियनशिप के फाइनल मैच में भारतीय बल्लेबाजों को दी है।

वसीम जाफ़र ने कहा, “इंग्लैंड में आपको गजनी मानसिकता के साथ भी बल्लेबाजी करनी होती है। भूल जाओ कि पिछली डिलीवरी के साथ क्या हुआ था. इंग्लैंड के हालात में ऐसे कई मौके आएंगे जब आप खेलेंगे और चूकेंगे। और यही कोहली और रहाणे के साथ भी हुआ। इसलिए अगली डिलीवरी पर ध्यान देना और पिछली डिलीवरी को भूल जाना महत्वपूर्ण है। ”

जाफ़र ने यह भी महसूस किया कि न्यूजीलैंड के तेज गेंदबाजों द्वारा बनाए गए खुरदुरे पैच से भारतीय स्पिनरों को फायदा होगा। फाइनल के दूसरे दिन भी खराब रोशनी के चलते बाधित हुआ और जाफर का कहना है कि ऐसे हालात आमतौर पर बल्लेबाजी टीम के खिलाफ काम करते हैं। उन्होंने कहा, ‘बल्लेबाजों को वापसी करनी होगी और फिर से सेटल होना होगा। गेंदबाजों को इन परिस्थितियों से कोई फर्क नहीं पड़ता क्योंकि उन्हें स्पैल करना होता है और फिर आराम करना होता है। ”

उनका कहना है कि मौसम की रुकावट को देखते हुए भारत ने अच्छी बल्लेबाजी की। दूसरे दिन कप्तान विराट कोहली 44 रन बनाकर नाबाद रहे जबकि अजिंक्य रहाणे ने 29 बनाकर उनका साथ दे रहे हैं। जाफर ने कहा, “उनकी मानसिकता सकारात्मक थी। जब भी मौका मिला उन्होंने रन बनाए। मैंने पहले भी कहा है कि गेंद को देर से खेलने की जरूरत है। ”

जाफर ने कहा कि अगर भारतीय टीम 275-300 का स्कोर खड़ा कर देती है तो टीम इंडिया की जीत की संभावनाएं बढ़ जाएंगी। उन्होने संभावना जताई है कि न्यूज़ीलैंड के बाएं हाथ के तेज गेंदबाजों द्वारा छोड़े गए खुरदुरे पैच आश्विन की मदद करेंगे। उनका अनुमान है कि गेंद घूमेगी। जिसकी मदद भारतीय स्पिनरों को मिलेगी। उन्होंने विलियमसन के बिना स्पिन गेंदबाज़ों के उतनरे पर हैरानी जताई है।

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.