सीरिया में अमरीका ने स्वीकारी हा’र?, इस शहर से भी फ़ौ’ज की वापसी…

मन्बिज, सीरिया: अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने जबसे सीरिया से अपनी सेनाओं को वापिस बुलाने का फ़ैसला किया है तभी से ऐसी स्थिति है कि रूस और बशर अल असद अपने गेन्स को मज़बूत कर रहे हैं. तुर्की के उत्तर-पूर्व सीरिया में ऑपरेशन पीस स्प्रिंग के बाद से ही सीरिया में एक बार फिर हलचल है.अब ख़बर है कि मन्बिज शहर पर रूस और सीरिया का क़ब्ज़ा हो गया है.

अमरीकी फ़ौज के वापिस आने के बाद से ही स्थिति रूस और बशर अल असद के पक्ष में होती जा रही है, तुर्की भी अपने अभियान में कामयाब नज़र आ रहा है. मन्बिज में आज सीरिया और रूस के झंडे नज़र आये और शहर की ईमारतों पर लहराते झंडों के अलावा मिलिट्री व्हीकल्स भी नज़र आये. एक समय इस शहर में बहुत तगड़ी लड़ाई थी लेकिन अमरीकी फ़ौज ने यहाँ से वापसी करके रूस-सीरिया की राह को आसान कर दिया है.

अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने तुर्की के ऊपर कुछ पाबंदियां लगाईं हैं लेकिन ये पाबंदियां बहुत कठोर नहीं हैं. तुर्की की मुद्रा लीरा एक समय काफ़ी गिर गई थी क्यूँकि लोगों को उम्मीद थी कि अमरीका कठोर पाबंदियां लगाएगा परन्तु ऐसा नहीं होने की सूरत में लीरा फिर बढ़ गया.इतना ही नहीं इतवार के रोज़ डोनाल्ड ट्रम्प ने सीरिया से 1000 और फ़ौजकर्मियों को वापिस बुलाने का एलान कर दिया है.

उत्तरी सीरिया से इन सैनिकों की वापसी का अर्थ है कि अमरीका तुर्की को खुला हैण्ड देना चाहता है और ख़ुद अब इस लड़ाई से बाहर होना चाहता है. अमरीका पहले YPG के साथ था लेकिन YPG के ख़िलाफ़ तुर्की ने अभियान छेड़ दिया है. ऐसे में YPG ने रूस-सीरिया से गठबंधन कर लिया है.YPG अब रूस-सीरिया की सेना को अपने इलाक़ों में बुला रहा है.

अमरीका के गठबंधन के एक तर्जुमान ने कहा कि हम मन्बिज से बाहर आ चुके हैं. कई जानकार इसका अर्थ ये भी मान रहे हैं कि अमरीका ने मान लिया है कि उसकी हार हो चुकी है और अब जंग में बने रहने का कोई अर्थ नहीं रह गया है.तुर्की भी इस बात को समझ चुका है कि अमरीका इस जंग को लंबा खींचना नहीं चाहता, इस कारण उसने ऑपरेशन पीस स्प्रिंग शुरू किया है ताकि वो अपने बॉर्डर को मज़बूत कर सके.

About Arghwan Rabbhi

Arghwan Rabbhi is a researcher and journalist.

View all posts by Arghwan Rabbhi →

Leave a Reply

Your email address will not be published.