इस समय पश्चिम एशिया में जो हालात हैं वो चिंताजनक माने जा रहे हैं. ईराक़ और सीरिया जैसे देशों में लम्बे समय से अशांति है वहीँ यमन में भी कुछ ऐसे ही हाल हैं. अब जो ख़बरें आ रही हैं उसके बाद ऐसा लग रहा है कि पश्चिम एशिया के दूसरे देशों में भी संकट की स्थिति पैदा हो सकती है. असल में संयुक्त राज्य अमरीका और ईरान के बीच तनाव बढ़ता जा रहा है.

हाल ही में अमरीका के एक ड्रो’न को गिराने के बाद ईरान ने कहा था कि वो जंग के लिए तैयार है. दोनों देशों के नेताओं ने जिस तरह से बयानबाज़ी की है उसके बाद दुनिया भर के देशों में चिंता का माहौल है. इस बीच अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने कहा है कि उन्हें ईरान पर हमला करने की कोई ‘‘जल्दी नहीं’’ है।

ईरान ने गुरुवार के रोज़ ये दावा किया था कि उसने उसके हवाई क्षेत्र का उल्लंघन होने पर अमेरिकी सैन्य निगरानी ड्रो’न को गिरा दिया। वहीं अमेरिका का कहना है कि उसका ड्रो’न अंतरराष्ट्रीय हवाई क्षेत्र में था। ट्रंप ने कई ट्वीट में कहा, ‘‘मैं किसी जल्दबाजी में नहीं हूं।’’ अमेरिकी राष्ट्रपति ने ईरान की इस कार्रवाई का जवाब देने के लिए अमेरिकी बलों को भेजने का फैसला किया था लेकिन बाद में इसे वापस ले लिया था।

ट्रम्प ने कहा, ‘‘हमले से 10 मिनट पहले मैंने इसे रोका।’’उन्होंने बताया कि एक जनरल ने उन्हें बताया था कि ईरान की तरफ 150 मौ’तें हो सकती हैं और फिर उन्होंने यह पाया कि यह एक ‘‘संतुलित’’ प्रतिक्रिया नहीं होगी। आपको बता दें कि राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ईरान द्वारा अमेरिकी ड्रो’न मा’र गिराने है कि पर अपनी बहुत तीखी प्रतिक्रिया जाहिर की थी। राष्ट्रपति ट्रंप ने कहा था कि ईरान बहुत बड़ी गलती कर चुका है। ईरान की ओर से भी जो बयान आये हैं वो भी कुछ इसी तेवर के हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *