UPSC सिविल सेवा परीक्षा 2019 के रिजल्ट घो’षित, इतने मु’स्लिम उम्मीदवार हुए सफल, टॉप 100 में…

August 5, 2020 by No Comments

मंगलवार को यूपीएससी के साल 2019 का रिजल्ट घोषित कर दिया गया है। जिसमें 42 मु’स्लिम उम्मीदवारों की भर्ती की गई है। यूपीएससी की ओर से जारी रिजल्ट की मानें तो इस साल कुल 829 उम्मीदवारों ने फाइनल टेस्ट पास किया है। देशभर में 42 मु’स्लिम लड़के-लड़कियों ने यह परीक्षा पास की है। सिर्फ एक मु’स्लिम लड़की सफना नज़रुद्दीन ने शीर्ष 100 में जगह बनाई है। सफना नज़रुद्दीन ने देशभर में 45वें स्थान हासिल किया है। वहीं पिछले साल इस परीक्षा में पास होने वाले मु’स्लिम लड़के-लड़कियों की संख्या 28 थी।

बता दें कि इतिहास में पहली बार साल 2016 में यूपीएससी के जरिए 50 मु’सलमानों का चयन हुआ था। इसके साथ ही दस मु’स्लिमों ने पहले 100 लोगों में अपनी जगह बनाई थी। वहीं साल 2017 में भी 50 मु’सलमानों का चयन किया गया था। वहीं साल 2012, 2013, 2014 और 2015 बैच में मु’स्लिम लड़के लड़कियों की तादाद 30, 34, 38 और 36 थी। यूपीएससी की तैयारी करवाने वाले ज़कात फाउंडेशन के ज़फर महमूद ने इस संबंध में कहा है कि “2016 के बाद से, मु’स्लिम उम्मीदवार लगभग 5 प्रतिशत रहे हैं, जो एक बड़ी उपलब्धि है, स्वतंत्रता के बाद से यह संख्या लगभग 2.5 प्रतिशत थी।” उन्होंने दावा किया है कि इस साल के चुने गए 42 उम्मीदवारों में से 27 ज़’कात फाउंडेशन के हैं।

महमूद ने बताया कि “तब से समुदाय के दृष्टि’कोण में एक बड़ा बदलाव आया है और यह हर साल प्रतिनिधित्व को 5 प्रतिशत तक लाने में कामयाब रहा है।” आगे उन्होंने कहा कि “हालांकि, भारत में मु’सलमानों का कुल प्रतिशत 15% है, हमें प्रतिनिधित्व को बढ़ाने के लिए तीन गुना प्रयास करना होगा।” साथ ही उन्होंने इसको चिंता का विष’य बताते हुए कहा कि “यह सिर्फ हमें बताता है कि हमें प्रयास करते रहना होगा।” आपको बता दें कि बीते कुछ सालों में भारत में मु’स्लिम उम्मीदवारों के लिए मुफ्त या रियायती कोचिंग दी जा रही है। इसके लिए देश में हमदर्द स्टडी सर्कल, आगाज़ फाउंडेशन, लार्कसपुर हाउस जैसे सेंटर खोले गए हैं।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *