UN में अमरीका की बड़ी ‘हार’, ईरान के ख़ि’लाफ़ नहीं मिले साथी..

August 15, 2020 by No Comments

संयुक्त राष्ट्र/तेहरान/वाशिंगटन डीसी: संयुक्त राष्ट्र में ईरान को बड़ी कामयाबी मिली है. संयुक्त राष्ट्र सिक्यूरिटी कौंसिल ने अमरीका के प्रस्ताव को ठुकरा दिया है. ये प्रस्ताव ईरान पर आर्म्स एम्बार्गो लगाने को लेकर था. अमरीका ने इस बारे में सूचना दी है. ईरान की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि अमरीका इससे ज़्यादा अकेला पहले कभी नहीं था. जानकार इसे ईरान की बड़ी कूटनीतिक जीत मान रहे हैं.

असल में अमरीकी प्रस्ताव के पास होने की संभावना पहले भी नहीं थी. अमरीकी सरकार इस बात को अच्छी तरह जानती थी, उसे लगता था कि रूस और चीन जैसे देशों के विरोध के बाद प्रस्ताव पास भी हो जाए तो वीटो हो जाएगा. अमरीका को झटका इस वजह से लगा है क्यूंकि कई ऐसे देशों ने इस प्रस्ताव का विरोध किया है जिसकी उम्मीद अमरीका को नहीं थी.
Donald Trump[/caption]
15 सदस्यों वाली सिक्यूरिटी कौंसिल में अमरीका के समर्थन में सिर्फ़ एक वोट पड़ा जबकि रूस और चीन ने इस प्रस्ताव का विरोध किया. 11 देशों ने पक्ष या विपक्ष किसी तरफ़ वोट नहीं किया. अमरीका के विदेश मंत्री माइक पोम्पो ने इसको लेकर बयान दिया कि प्रतिबंध की अवधि बढ़ाए जाने का समर्थन करने वाले इज़राइल और छह अरब खाड़ी देश ”जानते हैं कि यदि प्रतिबंधों की अवधि समाप्त हो जाती है, तो ईरान और अधिक अराजगता फैलाएगा तथा और वि’नाश करेगा, लेकिन सुरक्षा परिषद ने इस बात को नजरअंदाज करने का फ़ैसला किया.”

अमरीका द्वारा लाये इस प्रस्ताव को बहुत से जानकार चुनावी पैंतरा मान रहे थे. राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प साल के अंत में होने वाले चुनाव को देखते हुए अपने दक्षिण पंथी वोटरों को ख़ुश करना चाहते थे. इसी वजह से ये क़दम उठाया गया था लेकिन इसमें जिस तरह की किरकिरी अमरीका की विदेश नीति की हो रही है उसके बाद इसका उलटा असर पड़ने की उम्मीद है.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *