मुंबई: भारत में कोरोना का प्रकोप बढ़ रहा है. सरकार ने इसको रोकने के लिए लॉक डाउन किया है लेकिन कई जगह से ऐसी ख़बरें आ रही हैं कि कोरोना को लेकर टेस्टिंग बड़ी संख्या में नहीं हो पा रही है. वहीँ महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने दावा किया है कि उनके राज्य में टेस्टिंग अधिक हुई है. उन्होंने कहा कि चूंकि महाराष्ट्र में टेस्टिंग ज़्यादा हुई है इसलिए महाराष्ट्र में केसेस भी अधिक नज़र आ रहे हैं.

ठाकरे ने रविवार को बताया कि राज्य के कोरोना संक्र’मित में से 80 फ़ीसदी ऐसे मामले हैं जिनमें किसी प्रकार का कोई भी लक्षण देखने को नहीं मिला. राज्य में अब तक कोरोना के 7,628 मामले सामने आ चुके हैं.राज्य सरकार दावा कर रही है कि ये संख्या बाक़ी राज्यों के मुक़ाबले अधिक है लेकिन इसका कारण ये है कि किसी और राज्य की तुलना में महाराष्ट्र ने ज़्यादा टेस्ट किये हैं. इसके अलावा ठाकरे ने आम जनमानस से अपील की कि अगर आपके अंदर किसी तरह के लक्षण दिख रहे हैं तो उसे छिपाइए मत, जाकर अपना टेस्ट कराएं.

लॉक डाउन बढ़ाने को लेकर उन्होंने कहा कि इस महीने की आख़िरी तारीख़ तक कोई न कोई फ़ैसला ले लिया जाएगा. उन्होंने कहा कि इस विषय पर शाम को चर्चा होगी और जो भी तय होगा वो आपको बताया जाएगा. उन्होंने कहा कि वो चाहते हैं कि कुछ चीज़ें शुरू हों जैसे डॉक्टर्स के क्लिनिक, डायलिसिस सेंटर वग़ैरा. उन्होंने लोगों से धीरज बनाए रखने की अपील की और कहा कि लॉकडाउन के अलावा कोई और विकल्प उनके पास नहीं है.

ठाकरे ने साथ ही कहा कि कोरोना अचानक से ख़त्म नहीं होगा या फिर इसको लेकर लोगों की इम्युनिटी डेवेलप हो जायेगी इसके भी प्रमाण नहीं मिले हैं, इसलिए हम लोगों की ज़िन्दगी को ख़तरे में नहीं दाल सकते. उन्होंने लोगों से कहा कि लोग अगर किसी ज़रूरी काम से निकल रहे हैं तो बग़ैर मास्क पहने न निकलें.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *