दुबई: ऐसा माना जाता है कि अरब देशों में पेट्रोल की क़ीमतें कम होती हैं. ये बात सोचने की वजह भी है, असल में इन देशों में कच्चा तेल बड़ी मात्रा में है. ये बात स्वाभाविक है कि अरब देशों में तेल की क़ीमतें कम हों. देखा जाए तो और देशों की तुलना में यहाँ क़ीमतें कम हैं भी लेकिन पिछले दिनों जिस प्रकार आधुनिकीकरण हुआ है और जिस तरह से बड़े बड़े देशों के बीच सम्ब’न्ध बि’गड़े हैं, उस वजह से तेल के व्यापार पर असर पड़ा है.

यही वजह है कि संयुक्त अरब एमिरात ने अपने देश में पेट्रोल की क़ीमतों में बढ़ोत्तरी की है. नए एलान के बाद पेट्रोल की क़ीमतों में मामूली बढ़त देखी जा सकती है. देश में बिकने वाला सुपर 98 पेट्रोल अब 2.24 दिरहम प्रति लीटर के मोल से बिकेगा. इसकी क़ीमत नवम्बर में 2.20 दिरहम प्रति लीटर थी. जुमेरात के रोज़ ये घो’षणा की गई. जहाँ पेट्रोल के दाम में मामूली बढ़ोत्तरी की गई है वहीँ डीज़ल के दाम में कोई बदलाव नहीं किया गया है.

आपको बता दें कि पेट्रोल के दाम में सरकार ने पिछले कुछ दिनों में लगातार मामूली वृद्धि की है. अक्टूबर में पेट्रोल का दाम 2.09 प्रति लीटर था.डीज़ल का दाम नवंबर में भी 2.38 दिरहम था और अभी ये इतना ही है. इसके अलावा सुपर 95 पेट्रोल की क़ीमत भी मामली स्तर पर बढ़ाई है. सुपर 95 अब 2.12 दिरहम प्रति लीटर मिलेगा जबकि पहले ये 2.09 दिरहम था. सरकार की ओर से हालाँकि बढ़ोत्तरी ज़्यादा नहीं की गई है जिससे कि लोगों की आम ज़िन्दगी पर असर पड़े.

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *