इस मुस्लि’म देश ने सॉफ्ट ड्रिंक को लेकर किया ब’ड़ा फ़ै’सला, अब लगे’गा..

मुंबई: हम अक्सर इस बात को सुनते हैं कि सॉफ्ट ड्रिंक नहीं पीना चाहिए. हमारे माँ-बाप और हमारे बड़े-बूढ़े हमें ये हिदायत देते रहते हैं कि हम सॉफ्ट ड्रिंक और दूसरी बाहर की चीज़ें क’म इस्तेमाल में लाएँ. इसका कारण ये है कि इससे हमारे हाज़मे के ख़’राब होने के ज़्यादा चांसेस होते हैं. इन्हें हा’निकारक माना जाता है. अब इसको लेकर अलग-अलग देश की सरकारें इस ओर काम कर रही हैं कि कैसे सॉफ्ट ड्रिंक के इस्तेमाल को क’म किया जाए.

इसी को लेकर UAE की सरकार ने अब एक अहम् क़’दम उठाया है. UAE की सरकार ने इस बारे में बड़ा क़द’म उठाते हुए फ़ैसला किया है कि ऐसे उत्पादों पर टैक्स की दर बढ़ाई जाएगी. सॉफ्ट ड्रिंक पर 50 प्रतिशत तक टैक्स लगाए जाने की ख़बर है. 1 जनवरी 2020 से सॉफ्ट ड्रिंक और सॉफ्ट ड्रिंक बनाने के लिए इस्तेमाल में लाया जाने वाला पाउडर दोनों ही पर टैक्स की दर बढ़ेगी. इसके अलावा इलेक्ट्रोनिक स्मोकिंग डिवाइस पर भी दर बढ़ाई जाएगी.

Background Yellow Meadow Field Spring Flower

सरकारी समाचार एजेंसी में बयान जारी हुआ है. इस बयान में कहा गया है कि ये क़’दम इसलिए उठाया जा रहा है कि हा’निकारक उत्पादों के इस्तेमाल में क’मी आये. कोशिश ये भी है कि लोगों की खाद-आदतें बदलें. कैबिनेट ने फ़ैसला किया है कि सॉफ्ट ड्रिंक पर 50% तक टैक्स लगाया जाए. इसके साथ ही कंपनी को साफ़ तौर पर ये बताना होगा कि कितना शुगर कंटेंट सॉफ्ट ड्रिंक में है, जिससे कि उपभोक्ता अपने हिसाब से चॉइस कर सके. उल्लेखनीय है कि पिछले कुछ वर्षों में UAE ने अपने टैक्स स्ट्रक्चर में बदलाव किए हैं.

About Arghwan Rabbhi

Arghwan Rabbhi is a researcher and journalist.

View all posts by Arghwan Rabbhi →

Leave a Reply

Your email address will not be published.