UAE और बहरीन के ख़िलाफ़ फ़िलिस्तीन का बड़ा क़दम, अरब लीग की..

September 22, 2020 by No Comments

फ़िलिस्तीन ने मंगल के रोज़ एक बड़ा क़दम उठाया है. दो खाड़ी अरब देशों के इजराइल से सम्बन्ध सुधारने के फ़ैसले का फ़िलिस्तीन ने कड़ा विरोध किया है. UAE और बहरीन ने फ़िलिस्तीन से किसी तरह की कोई बात न करते हुए और बग़ैर फ़िलिस्तीनी अधिकारों की चिंता किये इजराइल से समझौता करने का फ़ैसला किया है. इस डील का अरब जगत और मुस्लिम जगत में भारी विरोध हो रहा है. फ़िलिस्तीनी नेता भी इस डील के विरोध में सुर बुलंद करते हुए अरब लीग की अध्यक्षता को लेने से इनकार कर दिया है.

फ़िलिस्तीनी विदेश मंत्री रियाद अल मालिकी ने रामल्लाह में प्रेस वार्ता करके कहा कि अरब लीग ने इस डील में UAE और बहरीन का साथ देने वाली पोज़ीशन ली जोकि अरब शांति प्रयासों पर झटका है”. उन्होंने कहा कि कुछ प्रभावी अरब देश अरब शांति प्रयासों के उल्लंघन की आलोचना करना नहीं चाहते. यही वजह है कि फ़िलिस्तीन ने रोटेशन के आधार पर मिलने वाला अरब लीग अध्यक्ष पद लेने से इनकार कर दिया है.

उल्लेखनीय है कि 1993 के बाद पहली बार किसी देश ने इज़राइल से सम्बन्ध स्थापित करने की घोषणा की. UAE के बाद बहरीन भी उसके साथ आ गया. माना जा रहा है कि ये डील जिसे अब्राहम एकॉर्ड का नाम दिया जा रहा है, इसके पीछे राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प का हाथ है. इस डील की आलोचना का मुख्य बिंदु यही है कि इसमें फ़िलिस्तीनी पक्ष की बात को सुना तक नहीं गया है और इजराइल की सभी बातें एक तरह से मान ली गई हैं.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *