कोरोना वायरस के ख़िलाफ़ तुर्की का बड़ा ए’लान, एरदोगन ने मरीज़ों के लिए..

अंकारा: पूरी दुनिया में ही कोरोना वायरस नाम की बीमारी ने लोगों का जीना मुश्किल कर दिया है. हर एक देश की सरकार कुछ न कुछ कर रही है कि किसी प्रकार इस वायरस पर क़ाबू पाया जाए. इसी को देखते हुए तुर्की की सरकार ने कुछ बड़े क़दम उठाये हैं. राष्ट्रपति रजब तैयब एर्दोगान ने स्वास्थ सेवाओं की बेहतरी के लिए बड़ा फ़ै’सला लिया है.

उन्होंने आदेश दिया है जिसके बाद तुर्की के सार्वजनिक अस्पतालों में कोरोनावायरस के लिए उपचार पूरी तरह से नि: शुल्क होगा. मरी’ज़ों को दवा के अलावा सुरक्षात्मक गियर और परीक्षण प्रदान किया जाएगा, भले ही वे राज्य बीमा का भुगतान करने में विफल रहे हों. एक तुर्की अधिकारी का हवाला देते हुए, मिडिल ईस्ट आई ने बताया है कि सरकार ने पहले ही हर नागरिक को मुफ्त स्वास्थ्य सेवाओं से लाभ उठाने की अनुमति देनी शुरू कर दी थी।

अधिकारी ने कहा, “यहां तक कि जो नागरिक राज्य बीमा के लिए मासिक प्रीमियम का भुगतान करने में विफल रहे, उन्हें दिसंबर तक कवर किया जाता है ।” पिछले 24 घंटों में, तुर्की ने 107 मौते हुई, जिससे कुल संख्या 1,403 हो गई। अब वायरस के 65,111 मामले हैं। एक वरिष्ठ स्वास्थ्य अधिकारी के अनुसार तुर्की वर्तमान में गहन देखभाल इकाइयों में 1,809 रोगियों का इलाज कर रहा है।’

टीआरटी वर्ल्ड ने बताया कि स्वास्थ्य मंत्री फहार्टिन कोका ने कहा कि बीते दिन 33,070 परीक्षण किए गए, जिनकी अब कुल संख्या 443,626 हो गई। COVID-19 के प्रसार पर अंकुश लगाने के प्रयासों में, संसद द्वारा पारित एक बिल 45,000 कैदियों को रिहाई देगा। सत्तारूढ़ जस्टिस एंड डेवलपमेंट पार्टी (AKP) के डिप्टी संसदीय समूह के नेता काहिट ओज़कान ने कल संवाददाताओं को बताया कि यह संख्या 90,000 तक बढ़ जाएगी। हालांकि इस कदम की “आ;तंकवाद” के आरोप में हिरासत में लिए गए पत्रकारों और राजनीतिक कैदियों को बाहर करने के लिए आलोचना की गई है।

About Arghwan Rabbhi

Arghwan Rabbhi is a researcher and journalist.

View all posts by Arghwan Rabbhi →

Leave a Reply

Your email address will not be published.