तुर्की की बजाय ग्रीस के साथ हुआ ये अरब देश, भेजे F-16 जेट..

August 28, 2020 by No Comments

पश्चिम एशिया और आस पास के क्षेत्र में पिछले कुछ महीनों में काफ़ी कुछ घटा है. माना जाता है कि पश्चिम एशिया की सियासत अमरीकी चुनाव में बहुत महत्वपूर्ण मानी जाती है. सियासी मामलों से अलग भी कई मामले हुए हैं जैसे लेबनान में दो विस्फोट हो जाना. हालाँकि अब उस पर भी राजनीति हो रही है. इज़राइल और UAE की दोस्ती और फ़िलिस्तीनी आन्दोलन को कमज़ोर करने की कोशिश, सभी कुछ हो रहा है.

तुर्की के आस पास भी काफ़ी कुछ घट रहा है. तुर्की को पिछले दिनों एक नेचुरल गैस का भण्डार मिल गया है. इस भण्डार से तुर्की की अर्थव्यवस्था में चार चाँद लग सकते हैं लेकिन तुर्की का पड़ोसी ग्रीस भी कुछ हरकत कर रहा है. ख़बर है कि संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) को अपने पाले में करके ग्रीस तुर्की के ख़िलाफ़ माहौल बना रहा है. UAE तुर्की के ख़िला’फ़ ग्रीस का समर्थन करने वाले राष्ट्रों की एक सूची में शामिल हो गया है.

इतना ही नहीं यूएई ने चार एफ -16 लड़ाकू जेट विमानों को हेलेनिक एयर फोर्स के साथ संयुक्त ड्रिल में भाग लेने के लिए भेजा है. एक रिपोर्ट के मुताबिक़, जेट्स सौडा बे एयरबेस पर तैनात होंगे और पूर्वी भूमध्यसागरीय पर यूनानी सशस्त्र बलों के साथ संयुक्त सैन्य अभ्यास करेंगे. UAE का ये क़दम तुर्की को परेशान कर रहा है क्यूंकि इस समय तुर्की और ग्रीस के रिश्ते बेहद ख़राब हैं. तुर्की ने ने अपने एक हाइड्रोकार्बन अन्वेषण जहाज को बचाने के लिए पिछले महीने नौसेना के जहाजों को तैनात किया हुआ है. ग्रीस के हेलेनिक नेशनल डिफेंस स्टाफ के प्रमुख ने अपने एमिरती समकक्ष लेफ्टिनेंट जनरल हमद मोहम्मद थानी अल रुमिथी के साथ बात भी की है. तुर्की को उम्मीद थी कि UAE उसके पक्ष में रहेगा परन्तु पश्चिम एशिया की राजनीति अब बदल सी रही है.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *