नॉएडा: पिछले कुछ वक़्त में मी’डिया ने जिस तरह का रोल प्ले किया है उसके बाद उसकी निं’दा बड़े स्तर पर होने लगी है.मीडि’या में एक गुट इस तरह से नज़र आता है जो हर एक बात को हि’न्दू और मुस’लमान के तराज़ू में तोलता है. दिल्ली के निज़ामुद्दीन स्थित त’बलीग़ ज’मात के मरक’ज़ में जब कोरो’नावाय’रस सं’क्रमित लोग मिले तो उसके बाद मी’डिया ने इसको बहुत ही अलग ढंग से प्रकाशित किया. कुछ मीडिया हाउस ने तो ऐसी ऐसी ख़बरें गढ़ दीं मानो लोग ख़ुद ही वाय’रस फैलाना चाह रहे हों.

इसको लेकर बाद में जब प’ड़ताल हुई तो बहुत सी ख़बरें फ़’र्ज़ी निकलीं या फिर वो ऐसी थीं जिनका लिंक मौजूदा मामले से न था. कुछ ऐसी भी थीं जहां पर कोई व्यक्ति’गत स्तर पर ब’दतमीज़ी कर रहा था लेकिन उसको पूरे समु’दाय का बता कर प्रकाशित किया गया. इसी को देखते हुए उत्तर प्रदेश पु’लिस अब सतर्कता से काम कर रही है. उत्तर प्रदेश पुलि’स ने पिछले दिनों ज़ी मीडिया के एक ट्विटर हैं’डल पर पोस्ट की गई एक ख़बर को भ्रामक जानकारी वाला बताया था.

अब उत्तर प्र’देश की नॉएडा पुलिस ने समाचार एजेंसी ANI के ट्वीट पर इसी तरह की टिप’ण्णी की है. ANI ने अपने UP हैं’डल से जानकारी दी थी कि 5 लोगों को क्वारंटाइन किया गया है जोकि तब’लीग़ जमात से कांटेक्ट में आये थे. इसमें गौतम बुद्ध नगर के DCP संकल्प शर्मा का बयान दिया गया था लेकिन नॉएडा DCP के ट्विटर हैं’डल से तुरंत इसका खं’डन किया गया और साथ ही इस ख़बर को फ़’र्ज़ी कहा गया. ANI ने इसके बाद शर्मा का सही बयान प्रकाशित किया.

शर्मा का बयान था,”सेक्टर 5 हरोला, नॉएडा में पाँच ऐसे लोग मिले हैं जो COVID 19 पॉजिटिव केसेस के संपर्क में आये थे, उन्हें क्वारंटाइन किया गया है.” इस नए ट्वीट के बाद नॉएडा DCP ने ट्विटर हैंडल से कहा कि अब इन्होने फैक्ट्स को क्लियर किया है और अपनी ग़’लती मान ली है. उल्लेखनीय है कि ANI एक समाचार एजेंसी है जिससे कई मी’डिया हा’उस सूचनाएँ लेते हैं, ऐसे में अगर ANI की ओर से ऐसी ग़’लती होगी तो वो ठीक नहीं है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *