सुदर्शन टीवी के ख़िलाफ़ जामिया उठाएगी बड़ा क़दम, IPS एसोसिएशन पहले ही..

August 28, 2020 by No Comments

पिछले दिनों इस साल की यूपीएससी परीक्षा का रिजल्ट घो’षित हुआ था। इसमें 45 मु’सलमानों ने परीक्षा को पास किया था, जिसमें से जामिया मिल्लिया इस्लामिया की रेजिडेंशियल कोचिंग एकेडमी के 30 प्रतियोगी थे। मुस्लिमों की इस बढ़ो’तरी पर सुदर्शन न्यूज चैनल के एडिटर इन चीफ सुरेश चव्हाणके ने एक विवादित सीरीज़ का ऐलान किया था। वो मुस्लिमों के सिविल सर्विसेज़ में स्थान पाने पर दुखी थे और अनाप-शनाप बातें बक रहे थे. वहीं अब इसी से संबं’धित एक वीडियो शेयर किया गया है।

उनका कहना है कि यूपीएससी परीक्षाओं में मु’स्लिमों की बढ़ती संख्या से नौकरशाही में मु’सलमानों की पैठ बढ़ रही है। दूसरी ओर जामिया मिल्लिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी ने सुदर्शन चैनल पर प्रसारित ‘जामिया के जि’हादी’ नाम के इस कार्यक्रम पर ऐतराज़ जताया है और साथ ही न्यूज़ चैनल के खि’लाफ मुक़’दमा दर्ज करने के लिए भी कहा है। इस संबंध में जामिया की वाइस चांसलर नजमा अख्तर ने कहा है कि “हमने इस बारे में एक बैठक बुलाई है जिसमें इस चैनल के खिलाफ भड़काऊ तत्व प्रसारित किए जाने के खि’लाफ अगले कदम का फैसला होगा।”
Jamia VC Najma Akhtar[/caption]
उन्होंने आगे कहा,”UPSC परीक्षा पास करने वाले जामिया की रेजिडेंशियल एकेडमी के हर छात्र को इस चैनल के भड़का’ऊ और नफरत फैलाने वाले कार्यक्रम के खिलाफ एफआईआर दर्ज करानी चाहिए।” वीसी नजमा अख्तर ने यह भी कहा कि “बहुत से लोगों को शायद नहीं पता है कि जामिया की रेजिडेंशियल एकेडमी से इस साल UPSC की परीक्षा पास करने वाले 30 छात्रों में से करीब 50 फीसदी छात्र गैर-मु’स्लिम हैं।” बता दें कि इस इस न्यूज़ चैनल ने दावा किया है कि वह जल्द ही सरकारी नौकरशाही में मु’स्लिमों के घु’सपैठ का खुला’सा करेंगे।

साथ ही उन्होंने वीडियो जारी कर मु’स्लिमों पर सवाल भी खड़े किए हैं। उनका कहना है कि “आखिर अचानक मु’सलमान IAS, IPS में कैसे बढ़ गए? सबसे कठिन परीक्षा में सबसे ज्यादा मार्क्स और सबसे ज्यादा संख्या में पास होने का राज क्या है? सोचिए, जामिया के जिहादी अगर आपके जिलाधिकारी और हर मंत्रालय में सचिव होंगे तो क्या होगा?” मालूम हो कि बीते दिनों जामिया मिल्लिया इस्लामिया ने सेंट्रल यूनिवर्सिटियों की लिस्ट में पहला स्थान हासिल किया था। वहीं जेएनयू और एएमयू दूसरे और तीसरे स्थान पर हैं। आपको बता दें कि सुदर्शन टीवी और उसके एडिटर इन चीफ़ सुरेश चव्हाणके के विवादित बयान पर

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *