शिवसेना की राह पर चली नीतीश कुमार की पार्टी, कमज़ोर प’ड़ने पर उठाया ये क़दम..

January 26, 2021 by No Comments

अपने विरोधियों की आलोचना से जदयू परेशान दिख रही है. जदयू नेताओं को लोगों के सवालों के जवाब देना मुश्किल सा लग रहा है. यही वजह है कि वो अब शिवसेना की राह पर चल पड़ी है. हम जानते हैं कि शिवसेना अपने मुखपत्र सामना के ज़रिए अपने विरोधियों पर निशाना साधती है. हालाँकि ये शिवसेना बहुत सालों से कर रही है. जदयू भी अब इसी रास्ते पर चल पड़ी है और अपना मुख पत्र लेकर आ रही है. जदयू ने सोमवार को अपने मुख्यपत्र का लोकार्पण किया.

पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष आरसीपी सिंह ने पटना में जेडीयू के मुख्यपत्र का लोकार्पण किया. इस दौरान उन्होंने कहा कि विचार की धार जितनी मजबूत होगी पार्टी उतनी ही मजबूत होगी. इस पत्र के जरिए पार्टी के सभी का’र्यकर्ताओं तक बात पहुंचाई जाएगी. आरसीपी सिंह ने कहा कि वर्तमान में जदयू का यह मासिक पत्र हिंदी और अंग्रेजी दोनों भाषाओं में निकाला जाएगा.

तो वहीं आने वाले दिनों में हिंदी और अंग्रेजी के साथ भोजपुरी, मैथली और अंगिका में भी मुख्यपत्र निकाले जाने की बात कही. हिंदी में मुख्यपत्र का संपादन डॉ. वरुण ने किया है जबकि अंग्रेजी में इसका संपादन डॉ. विमलेंदु ने किया है. इस मौके पर जेडीयू के प्रदेश अध्यक्ष उमेश कुशवाहा, प्रो. रामबचन राय सहित कई लोग मौजूद रहे.

जनता दल यूनाइटेड का मासिक मुख्यपत्र ‘जेडीयू संधान’ के जरिए जेडीयू न सिर्फ पार्टी की गतिविधियों और कार्यक्रर्मो को लोगों तक ले जाएगी बल्कि विरोधियों द्वारा फैलाए जा रहे गलतफहमियों को भी दूर करने का काम करेगी.साथ ही पार्टी के बारे में की जाने वाली गलत बयानी का भी जेडीयू मजबूती से जबाब देगी. यह मासिक पत्रिका सरकार की योजनाओं को आम नागरिकों तक प्रमुखता से पहुचांने का काम करेगी. जेडीयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष आरसीपी सिंह ने कहा कि बिहार सरकार लोगों के लिए जो लगातार काम कर रही है, ‘जेडीयू संधान’ के जरिए उन कामों को जनता तक पहुंचाने का काम किया जाएगा.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *