सरकारी कार्यक्रम में लगे ‘जय श्री राम’ के नारे, ममता ने भाजपा को दी नसीहत..

January 24, 2021 by No Comments

कोलकाता: पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी नेताजी सुभाष चन्द्र बोस की 125वीं जयंती पर उनके सम्मान में आयोजित एक कार्यक्रम में शामिल हुईं. इस कार्यक्रम के दौरान जब वो बोलने खड़ी हुईं तो किसी ने “जय श्री राम” का नारा लगाया. इस नारे का चुनावी इस्तेमाल इस समय भाजपा कर रही है और पश्चिम बंगाल में उसकी हर चुनावी रैली में ये नारा सुनने को मिलता है. ममता बनर्जी को बोलने न देने की एक कोशिश किसी ने की. ऐसा तब हुआ जब मंच पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी मौजूद थे.

सरकारी कार्यक्रम में इस तरह के नारे लगने पर ममता बनर्जी ने काफ़ी नाराज़गी जताई. उन्होंने कहा कि मुझे यहाँ बुलाया गया है तो कम से कम मेरा अपमान न कीजिए. उन्होंने साफ़ कहा कि ये कोई राजनीतिक कार्यक्रम नहीं था. मुख्यमंत्री ने कहा, “मुझे लगता है कि सरकार के प्रोग्राम का कोई डिग्निटी होना चाहिए. ये गर्वमेंट का प्रोग्राम है कोई पॉलिटिकल पार्टी का प्रोग्राम नहीं है.”


उन्होंने आगे कहा,”ये सभी पॉलिटिकल पार्टी और पब्लिक का प्रोग्राम है. मैं आभारी हूँ प्रधानमंत्री जी का, कल्चरल मिनिस्ट्री का कि कोलकाता में यह प्रोग्राम बनाया. लेकिन किसी को निमंत्रित करके उसको बेज्जत करना ये आपको शोभा नहीं देता. मैं कुछ नहीं कहने जा रही हूं. जय हिंद, जय बांग्ला.” समारोह में साफ़ देखा गया कि जब ममता बनर्जी बोलने के लिए उठ खड़ी हुईं तो भीड़ ने नारेबाज़ी की, आयोजक उन्हें बार-बार शांत रहने के लिए कहते रहे.

ममता बनर्जी जब बोलने के लिए खड़ी हुईं तो भीड़ में से किसी ने नारेबाज़ी की. इसके बाद ममता का ग़ुस्सा फूटा और उन्होंने लोगों को सरकारी कार्यक्रम की मर्यादा रखने की नसीहत दी. ममता ने इसके बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को नेताजी के कार्यक्रम में शामिल होने पर धन्यवाद दिया और मंच से चली गईं.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *