सचिन पायलट समेत कांग्रेस के 19 MLAs के खि’लाफ नोटिस जारी, दो दिन के अंदर…

July 15, 2020 by No Comments

राजस्थान: राजस्थान में अभी भी सिया’सी उथल-पुथल तेज़ हैं। प्रदेश में कांग्रेस पार्टी के उपमुख्यमंत्री रहे सचिन पायलट के साथ उनके 19 विधायकों के खि’लाफ नोटिस जारी किया गया है। जिसके तहत इन सभी को दो दिन के अंदर जवाब देना होगा। दरअसल, हाल ही में हुए राज्य के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत द्वारा रखी मीटिंग में सचिन पायलट ने शामिल होने से इं’कार कर दिया था। वहीं दूसरी ओर बैठक में शामिल ना होने वालों पर कार्रवाई करने की बात भी कही गई थी। जिसके चलते मंगलवार की रात 10:30 बजे कांग्रेस के मुख्य सचेतक डॉ. महेश जोशी ने पार्टी के व्हीप का उल्ल’घंन करने वालों के खि’लाफ याचि’का दायर की थी।

इस याचिका पर करवाई करते हुए विधानसभा अध्यक्ष डॉ. सीपी जोशी ने इन बाघी विधायकों के खि’लाफ एक्श’न लिया है। उन्होंने दो दिन के अंदर यानी 17 जुलाई को दोपहर एक बजे तक लिखित जवाब मांगा है। सचिन पायलट के साथ साथ रमेश मीणा, इंद्राज गुर्जर, गजराज खटाना, राकेश पारीक, मुरारी मीणा, पीआर. मीणा, सुरेश मोदी, भंवर लाल शर्मा, वेदप्रकाश सोलंकी, मुकेश भाकर, रामनिवास गावड़िया, हरीश मीणा, बृजेन्द्र ओला, हेमाराम चौधरी, विश्वेन्द्र सिंह, अमर सिंह, दीपेंद्र सिंह और गजेंद्र शक्तावत को यह नोटिस भेजा गया है। जिसके बाद पायलट खेमे की तरफ से कहा गया है कि इसका कोई लीगल स्टैंड नहीं है। इसको लेकर वह कोर्ट की शर’ण में जा सकते हैं।

Sachin Pilot- Ashok Gehlot


वहीं दूसरी तरफ ऐसे हाला’तों को देखते हुए कई सवाल पैदा हो रहे हैं। जिसमें से अहम सवाल यह है यदि कांग्रेस के 19 विधायकों की सदन की प्राथ’मिक सदस्यता ख’त्म हो जाएगी तो विधानसभा में संख्या का क्या गणि’त होगा। जिसके जवाब में सूत्रों का कहना है कि इन्हीं अभी विधायकों की सदस्यता खत्म होने के बाद कांग्रेस के पास 88 विधायक रह जाएंगे। वहीं प्रदेश की कुल 200 सदस्यों में से सिर्फ 181 सदस्य बचेंगे। ऐसे में सत्ता बनाने के लिए कांग्रेस को 92 सदस्यों की जरूरत होगी। अशोक गहलोत की सरकार बनने के लिए फिर 4 लोगों की सदस्यता चाहिए होगी।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *