सचिन पायलट और अशोक गहलोत की ‘ल’ड़ाई’ में आया कोर्ट का फ़ैसला

July 24, 2020 by No Comments

जयपुर: राजस्थान उच्च न्यायलय ने फ़िलहाल सचिन पायलट को राहत दी है. हालाँकि ये राहत कितने दिन की है इसके बारे में कुछ भी कहना मुश्किल है. हाईकोर्ट ने शुक्रवार को अपना फ़ैसला सुनाते हुए यथास्थिति को बरक़रार रखने के निर्देश दिए हैं. कोर्ट ने स्पीकर की नोटिस पर रोक लगाने के अपने आदेश को बनाए रखा है. यानी फिलहाल स्पीकर पायलट सहित बाग़ी विधायकों पर अयोग्यता की कार्रवाई नहीं कर सकते हैं. बता दें कि इसके पहले हुई सुनवाई में कोर्ट ने अपना फैसला सुरक्षित रख लिया था.

कोर्ट ने अपने आदेश में कहा कि फ़िलहाल नोटिस पर कार्यवाई न की जाए. अदालत इस मामले की सुनवाई आगे भी जारी रखेगा. इसको लेकर पहले क़ानून के सवाल को तय किया जाएगा. बता दें कि पायलट खेमे की ओर से शुक्रवार को कोर्ट में मामले में केंद्र को भी पक्ष बनाने को लेकर याचिका दाख़िल की गई थी, जिसे कोर्ट ने स्वीकार कर लिया है. कोर्ट ने कहा है कि वो इस मामले केंद्र का पक्ष भी सुनेगा.

हाईकोर्ट का यह फ़ैसला पायलट के लिए फ़ौरी राहत है. इसके पहले हुई सुनवाई में हाईकोर्ट ने स्पीकर को शुक्रवार तक कोई कार्रवाई न करने का आदेश दिया था, जिससे कि पायलट को वक़्त मिल गया था. लेकिन स्पीकर सीपी जोशी हाईकोर्ट के इस फ़ैसले के ख़िलाफ़ बुधवार को सुप्रीम कोर्ट पहुंचे. उन्होंने अपनी याचिका में कहा कि स्पीकर के पास नोटिस जारी करने का अधिकार है. उन्होंने कहा था कि कार्रवाई करने तक कोर्ट इसमें दख़ल नहीं दे सकता है.

सुप्रीम कोर्ट में गुरुवार को इसपर सुनवाई हुई थी और मामले को अगली सुनवाई के लिए सोमवार तक टाल दिया गया है. सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि हाईकोर्ट का फ़ैसला उसके अधीन रहेगा. ये माना जा रहा है कि सचिन पायलट ख़ेमे ने वक़्त और मिल जाए इस जुगत में केंद्र को भी पार्टी बनाया. हालाँकि इससे स्थिति साफ़ होती जा रही है कि सचिन पायलट को केंद्र में सत्ताधारी भाजपा का समर्थन मिला हुआ है.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *