सचिन पायलट ख़ेमे का ऑडियो वायरल, सरकार गिराने की कोशिश में लगे थे..

July 17, 2020 by No Comments

जयपुर: राजस्थान की सियासत में उठापटक का दौर अब अपने अंतिम दौर में पहुँच चुका है. कांग्रेस पार्टी की सरकार गिराने की कोशिश नाकाम हुई है और अशोक गहलोत राजस्थान के महारथी बनकर उभरे हैं. राजनीतिक जानकार मानते हैं कि सचिन पायलट ने जल्दबाज़ी में बहुत से क़दम उठा लिए. सचिन पायलट और उनके ख़ेमे पर कार्यवाई करते हुए सचिन पायलट को उप-मुख्यमंत्री पद से हटा दिया है. उनके साथियों को भी मंत्रालय से बाहर कर दिया गया है.

फिर ऐसी ख़बरें आयीं कि सचिन पायलट अब सुलह करना चाहते हैं, उनके बयान भी इसी तरह के आये लेकिन फिर वो अपने ऊपर स्पीकर की कार्यवाई को लेकर अदालत चले गए जबकि उन्हें सुलह ही करनी थी तो पहले पार्टी से तो बात करते ही. अब इस सबके बीच कुछ ऑडियो लीक हो गए हैं जो सचिन पायलट ख़ेमे और भाजपा नेता के बीच बातचीत के हैं. गहलोत सरकार के ओएसडी लोकेश शर्मा ने ऑडियो जारी किया है और प्रेस-नोट भी जारी किया है.

प्रेस नोट में दी गई जानकारी के मुताबिक़, ऑडियो में यह खुलास हो रहा है कि केन्द्रीय मंत्री गजेन्द्र सिंह, जयपुर निवासी संजय जैन के माध्यम से भंवरलाल शर्मा एमएलए से सम्पर्क में हैं. वहीं, भंवर लाल द्वारा वांछित 30 विधायकों की संख्या शीघ्र पूरी होना बताने पर गजेन्द्र सिंह सरकार के घुटने टिकाने की बात करते हैं. साथ ही, गजेन्द्र सिंह द्वारा भंवरलाल को यह भी कहा गया कि आप लोग होटल में 8-10 दिन रूको.

राज तो बाड़े में लम्बे समय तक नहीं रह सकता. जैसे ही ये छोड़ेगे लोग अपने पास आ जाएंगे. वहीं, संजय जैन द्वारा भंवरलाल शर्मा को इस सम्बन्ध में यह कहा गया कि आप सचिन पायलट को कह उनकी लिस्ट में अपना एवं गिरधारी का नाम पृथक करा लेना. मैं आपका गजेन्द्र सिंह जी से डायरेक्ट करा दूंगा. भंवर लाल द्वारा अमाउंट की बात तय होने बाबत् पूछा जाने पर संजय जैन उन्हें आश्वासन देता है कि इस बारे में आपको कल कह दिया था. साथ ही, यह भी आश्वासन देता है कि आपकी वरिष्ठता का पूरा ध्यान रखा जायेगा.

उल्लेखनीय है कि गुरुवार की शाम को ही नागौर सांसद और राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक हनुमान बेनीवाल ने पूर्व सीएम वसुंधरा राजे पर सनसनीखेज आरोप लगाया है कि राजस्थान में सीएम अशोक गहलोत व पूर्व सीएम वसुंधरा राजे का गठजोड़ जनता के सामने खुलकर आ गया है, दोनों ने मिलकर एक दूसरे के शासन में दोनों के भ्र्ष्टाचार पर पर्दा डाला.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *