रूस की बात पर चलेंगे अज़रबैजान और आर्मीनिया, यु’द्ध के बीच शुरू हुई..

October 10, 2020 by No Comments

अज़रबैजान और अर्मेनिया के बीच नागोर्नो-काराबाख़ को लेकर चल रहे युद्ध में अब शांति की अपील की जा रही है. इस बीच बड़ी ख़बर आ रही है कि रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन की अपील पर दोनों देशों ने शांति को लेकर बातचीत शुरू करने पर रज़ामंदी जताई है. समाचार एजेंसी एऍफ़पी के मुताबिक़ रूसी विदेश मंत्रालय के तर्जुमान मारिया ज़खारोवा ने जानकारी दी कि बाकू और येरवान ने मास्को में बातचीत के लिए राज़ी हैं.

मारिया ने कहा कि इसके लिए तैयारियाँ की जा रही हैं. ख़बर है कि शुक्रवार शाम से बातचीत शुरू भी हो चुकी है. क्रेमलिन की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि रूसी राष्ट्रपति ने दोनों देशों से लड़ाई रोकने को कहा है. रूसी राष्ट्रपति कार्यालय से जारी बयान में कहा गया है कि मानवता पर चलते हुए दोनों देश लाशें और क़ैदी एक्सचेंज कर लें.

ऐसा माना जा रहा है कि आज़रबाइजानी राष्ट्रपति इल्हाम अलियेव और अर्मेनियाई प्रधानमंत्री निकोल पशिनियन के बीच कई बार रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने फ़ोन पर बात की जिसके बाद ये नतीजा सामने आया है. रूसी विदेश मंत्री सेर्गेई लावरोव इस शांति बातचीत को मीडिएट करेंगे. आपको बता दें कि अन्तराष्ट्रीय तौर पर अज़रबैजान का हि’स्सा माने जाने वाले नागोर्नो-काराबाख़ पे अर्मीनिया का क़’ब्ज़ा है.

अर्मीनिया इस क्षेत्र को अर्तसाख़ गणराज्य का हिस्सा मानता है. हालाँकि अन्तराष्ट्रीय तौर पर ये अज़रबैजान का हिस्सा है. इस क्षेत्र की आबादी डेढ़ लाख के क़रीब है और यहाँ अर्मेनियाई मूल के अधिक लोग हैं. बार-बार अन्तराष्ट्रीय समु’दाय ये अपील कर चुका है कि अर्मीनिया इस क्षेत्र को छोड़े लेकिन अर्मीनिया ने ऐसा न तो किया है और न ही वो करना चाहता है.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *