मुम्बई: विराट कोहली ने टी-20 टीम की कप्तानी छोड़ने की घोषणा कर दी है. उनकी इस घोषणा के बाद से ही चर्चा होने लगी कि आख़िर उन्होंने ये फ़ैसला क्यूँ लिया. अब इसको लेकर कई बातें मीडिया में चल रही हैं. ख़बर है कि टीम इंडिया के ड्रेसिंग रूम में सब कुछ ठीक नहीं है. कोहली के बारे में ख़बर है कि उन्होंने चयनकर्ताओं से कहा था कि वह रोहित शर्मा को एकदिवसीय क्रिकेट की कप्तानी से हटा दें.

उन्होंने प्रस्ताव दिया था कि रोहित शर्मा की जगह केएल राहुल को टीम का उप-कप्तान बनाया जाए. हालाँकि बोर्ड ने इस बात को बिल्कुल पसंद नहीं किया. बोर्ड से जुड़े एक सूत्र ने मीडिया को बताया कि बोर्ड को ये पसंद नहीं आया कि कोहली असल उत्तराधिकारी नहीं चाहते. दूसरी ओर कोहली से कुछ जूनियर खिलाड़ी भी नाख़ुश बताये जा रहे हैं.

कोहली के खिलाफ सबसे बड़ी शिकायत यह है कि वह जूनियर खिलाड़ियों के लिए कम अवेलेबल रहते हैं और अक्सर जब मुश्किल घड़ी आती है तो उन्हें वह मझधार में छोड़ देते हैं.एक पोर्एटल के अनुसार एक क्रिकेटर ने कहा,”आस्ट्रेलिया में पांच विकेट के बाद कुलदीप यादव योजनाओं से बाहर हो गया. ऋषभ पंत जब फॉर्म में नहीं था तो उसके साथ भी ऐसा ही हुआ. भारतीय पिचों पर ठोस प्रदर्शन करने वाले सीनियर गेंदबाज उमेश यादव को कभी यह जवाब नहीं मिला कि किसी के चोटिल नहीं होने तक उनके नाम पर विचार क्यों नहीं किया जाता.”

समाचार एजेंसी पीटीआई से हुई एक पूर्व खिलाड़ी की अनौपचारिक बातचीत में बताया गया,”विराट के साथ समस्या संवाद की है. महेंद्र सिंह धोनी जब थे तो उनका कमरा चौबीस घंटे खुला रहता था और खिलाड़ी अंदर जा सकता था, वीडियो गेम खेल सकता था, खाना खा सकता था और जरूरत पड़ने पर क्रिकेट के बारे में बात कर सकता था.” उन्होंने कहा, ‘मैदान के बाहर कोहली से संपर्क कर पाना बेहद मुश्किल है.’

पूर्व क्रिकेटर ने कहा, ‘रोहित में धोनी की झलक है लेकिन अलग तरीके से. वह जूनियर खिलाड़ियों को खाने पर ले जाता है, जब वह निराश होते हैं तो उनकी पीठ थपथपाता है और उसे खिलाड़ियों के मानसिक पहलू के बारे में पता है.’

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *