रानू मंडल की बेटी ने लगाए माँ के मैनेजर पर गम्भी’र आरो’प…मैनेजर ने दी बेटी को धम’की

रानू मंडल जो कभी गुमनामी की ज़िंदगी जी रही थी आज सभी के लिए जाना माना नाम है। इसका कारण है उनकी सुरीली आवाज़ जिसे स्टेशन में सुनकर समाजसेवी अतींद्र चक्रवर्ती ने अपने फ़ोन में विडी’ओ बनाया और सोशल मीडिया पर अपलोड कर दिया देखते ही देखते रानू मंडल की आवाज़ लोगों को इतनी पसंद आने लगी कि ये विडी’ओ वा’यरल हो गया। बस रानू मंडल को बुलावा आया मुंबई के एक रिएलिटी शो से और यहाँ जज थे हिमेश रेशमिया जिन्होंने रानू को गाने का मौक़ा देने का वादा किया।

हिमेश रेशमिया ने अपना वादा पूरा करते हुए रानू से एक नहीं तीन गाने गवाए। इन गानों की रिकॉर्डिंज़ के विडी’ओ भी लोगों ने ख़ूब पसंद किए। इस पूरी यात्रा में रानू के साथ अतींद्र चक्रवर्ती बने रहे। हालाँकि विडीओ में सिर्फ़ रानू ही नज़र आती लेकिन उनके साथ अतींद्र और तपन दास, जो एक समाजसेवी क्लब शोबाई शोईतान का हिस्सा हैं, दोनों ही बने रहे। ख़बरें हैं कि रानू की रिकॉर्डिंज़ की सारी जानकारी ये दोनों ही रखते हैं और ये ही उनके मैनेजर भी हैं।

Ranu Mandal

जैसे ही रानू की रिकॉर्डिंग सामने आयी उनकी बेटी भी उनसे मिलने आ पहुँची। रानू अपनी बेटी एलिज़ाबेथ सती रॉय से दस साल बाद मिलकर बहुत ख़ुश हुईं लेकिन लोगों ने रानू की बेटी के बारे में ये कहना शुरू किया कि अब जब रानू के पास नाम और शो’हरत है तो उनकी बेटी वाप’स आ गयी जबकि इतने सालों तक रानू की बेटी ने उन्हें पू’छा भी नहीं। लोगों ने तो ये तक कह दिया कि ऐसी बेटी सिर्फ़ मा’र खाने लायक है।

रानू की बेटी ने इस बात का जवा’ब देते हुए कहा कि रानू की दो शादियों से उन्हें चार बच्चे हैं जिनमें से वो अके’ली ही हैं जो अब तक उनसे मिलती रही हैं और उनका ख़याल भी रखती रही हैं। यही नहीं उन्होंने कहा कि जब उन्होने पहली बार स्टेशन पर अपनी माँ को देखा तो उन्होंने कहा कि माँ उसके साथ चलें लेकिन रानू ने उन्हें जा’ने के लिए कहा तो उन्होंने माँ को 200 रुपए थ’माकर कहा कि वो घर जाएँ। इसके बाद से वो हर महीने अपने चाचा के अकाउंट से माँ को 500 रुपए भेजती रहीं।

Ranu Mandal with Daughter sati roy- with manager Atindra Chakrwarti

लेकिन अब रानू की बेटी ने रानू मंडल के मैनेजर अतींद्र चक्रवर्ती और तपन दास पर एक ग’म्भीर आरो’प लगाया है उन्होंने कहा कि मेरे माँ के मैनेजर मुझे उनसे मिलने नहीं देते। मेरी माँ मानसि’क तौर पर अभी पूरी तरह ठीक नहीं है। ऐसे में भी उन पर मीडिया से बात करने का द’बाव बनाया जा रहा है। उन्होंने मेरी माँ का ब्रे’नवा’श कर दिया है और उन्हें मेरे ख़ि’लाफ़ भ’ड़का रहे हैं।

उन्होंने आगे कहा कि मुझे अपनी माँ से फ़ोन पर बात करने भी नहीं दे रहे, यही नहीं जब मैं अपनी माँ से मिलने के लिए बार-बार कहने लगी तो उन्होंने मुझे वहाँ से चले जाने के लिए कहा और कहा कि अगर मैं नहीं गयी तो वो मेरा पै’र तो’ड़ देंगे। उन्होंने कहा कि अतींद्र और तपन को सिर्फ़ मेरी माँ की शोहरत से प्यार है इसीलिए वो लोग अपना घर छो’ड़कर माँ के साथ यहाँ रह रहे हैं जबकि मैं अपनी माँ से हमेशा प्यार करती हूँ।

About Arghwan Rabbhi

Arghwan Rabbhi is a researcher and journalist.

View all posts by Arghwan Rabbhi →

Leave a Reply

Your email address will not be published.