कोरोना वायरस इस समय दुनिया के लिए सबसे बड़ी मुश्किल बन गया है. इसने जान माल की हानि तो की ही है, साथ ही जन-जीवन को बुरी तरह प्रभावित किया है. लोग अपनी धार्मिक किर्याएँ तक नहीं कर पा रहे हैं. मुस्लिम समुदाय के लिए पाक माने जाने वाले इस्लामिक महीने रमज़ान की शुरुआत अंग्रेज़ी कैलेंडर के मुताबिक़ 24 अप्रैल से हो रही है. चाँद के अनुसार 29 या 30 दिन के पड़ने वाले इस महीने में मुस्लिम समुदाय रोज़े रखता है और इबादत करता है.

भारत मे ही न’हीं बल्कि पूरे विश्व मे कोरोना वायरस का सं’कट बढ़ता ही जा रहा, ऐसे में WHO ने लॉ’कडा’उन के दिशा-निर्देशों एवं सोशल डिस्टेंन्सिंग का पूरी ईमानदारी से पालन करते हुए अपने-अपने घरों पर ही इबादत, तरावीह की नमाज़ आदि करने के लिए तथा जरूरी सावधानियों का पालन करने के किये निर्देश दिए हैं. विश्व स्वास्थ्य संगठन(WHO) ने अपने निर्देश में कहा है कि जहां तक संभव हो किसी प्रकार का धार्मिक आयोजन और समूह में एकत्र होने से बचें।

इस निर्देश में कहा गया है कि इसके बदले आयोजनों के लिए इलैक्ट्रॉनिक माध्यमों का इस्तेमाल किया जा सकता है। यदि आयोजन किया भी जाता है तो इनमें शामिल होने वालों की संख्या बेहद क’म हो और सामाजिक दूरी तथा स्वच्छता के नियमों का पालन करें। इसके साथ ही,संगठन का ये भी कहना है कि कम से कम 1 मीटर की सामाजिक दूरी बनाए रखें और रमज़ा’न की गतिविधियों, जैसे मनोरंजन स्थल, बाज़ार और दुकानों से जुड़े स्थानों पर इकट्ठा होने से बचें।

भारत में, हालांकि, राष्ट्रव्यापी तालाबंदी के कारण मनोरंजन स्थल और मॉल बं’द हैं, लोगों को अपरिहार्य गतिविधियों के लिए बाहर जाने पर सामाजिक दूरी के मानदंडों का पालन करना चाहिए। आवश्यक बात,डब्ल्यूएचओ के दिशानिर्देशों के अनुसार, स्वस्थ लोगों को पवित्र महीने के दौरान उपवास करने में सक्षम होना चाहिए। हालांकि, COVID-19 रोगी डॉक्टरों के परामर्श से नाश्ता कर सकते हैं।इसके साथ ही संगठन ने यह भी उल्लेख किया कि COVID ​​-19 संक्रमण के उपवास और जो’खिम के कोई अध्ययन नहीं किए गए हैं।

और तो और WHO ने प्रार्थना स्थल के बारे में निर्देश दिया कि,प्रवेश द्वार पर एक हैंडवाशिंग सुविधा प्रदान करें।कालीनों पर जगह बनाने के लिए लोगों को व्यक्तिगत प्रार्थना आसनों को लाने के लिए प्रोत्साहित करें।पूजा स्थल को बार-बार साफ करें। आपको बता दें कि,इस समय विश्व मे संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर 22 लाख से अधिक हो गई है. दुनिया में कोरो’ना वायरस ने अब तक 1.47 लाख से ज्यादा लोगों की जा’न ले ली है। राहत की बात यह भी है कि, दुनिया भर में अब तक कोरो’ना नाम की इस महामा’री 5.54 लाख लोग ठीक भी हो चुके है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *