रमज़ान से पहले सऊदी अरब ने लिया फ़ै’सला, दोनों बड़ी मस्जिदें नमाज़ियों के लिए रहेंगी बं’द लेकिन..

रियाद: सऊदी अरब सरकार ने रमज़ान से पहले एलान किया है कि दो पवित्र मस्जिदों को जनता के लिए अभी बंद ही रखा जाएगा. कोरोना वाय’रस महामारी के चलते निलंबन को बढ़ाया गया है. दो पवित्र मस्जिदों के अध्यक्ष जनरल, शेख़ डॉ अब्दुल्रहमान बिन अब्दुलअज़ीज़ अल-सुदैस ने एक ट्वीट कर इस बारे में जानकारी दी. उन्होंने अपने ट्वीट में कहा कि मक्का में मस्जिद अल-हरम और मस्जिद अल-नबवी पूरे महीने अज़ान का प्रसारण करेंगे.

उन्होंने बताया कि अज़ान का प्रसारण होगा लेकिन मस्जिदें नमाज़ियों के लिए बंद ही रहेंगी. इस्लाम धर्म में रमज़ान की बड़ी एहमियत है. इस महीने में इस्लाम के मानने वाले रोज़े रखते हैं. रोज़े के दौरान वो सुबह होने से ठीक पहले (सहरी) और सूरज ढलने (इफ़्तार) के बीच न तो कुछ खाते हैं और न ही कुछ पीते हैं. ये महीना चाँद निकलने के मुताबिक़ 29 या 30 दिन का होता है.

इस्लामिक जानकारों के मुताबिक़ इस बार इस्लामिक कैलेण्डर का महीना रमज़ान 24 अप्रैल या 25 अप्रैल से शुरू होगा. उल्लेखनीय है कि कोरोना वाय’रस के प्रसार को रोकने के लिए सऊदी अरब सरकार ने कई बड़े क़दम उठाये थे. इन्हीं में से एक था कि पवित्र मस्जिदों में नमाज़ियों के आने पर पाबंदी लगा दी थी. इस बार एलान किया गया है कि लोग तरावीह की नमाज़ अपने घरों में पढ़ लें. तरावीह की नमाज़ रमज़ान के दौरान पढ़ी जाती है जो ईशा(रात) की नमाज़ के बाद ही पढ़ी जाती है.

आपको बता दें कि सऊदी अरब में कोरोना वाय’रस के केसेस की संख्या अब 10 हज़ार से भी अधिक हो चुकी है. 507 सऊदी नागरिकों की जान इस वाय’रस ने ले ली है. अच्छी ख़बर लेकिन ये है कि 1,490 लोग पूरी तरह से स्वस्थ भी हो चुके हैं. पूरी दुनिया में इस वाय’रस ने 2,482,044 लोगों को संक्रमित किया है.

About Arghwan Rabbhi

Arghwan Rabbhi is a researcher and journalist.

View all posts by Arghwan Rabbhi →

Leave a Reply

Your email address will not be published.