राजस्थान की सियासी ल’ड़ाई के बीच गहलोत ने दी चेता’वनी, कहा ‘जरूरत पड़ी तो..’

July 25, 2020 by No Comments

राजस्थान: राजस्थान में गहलोत पायलट की ल’ड़ाई के बीच शनिवार को राज्य के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कांग्रेस विधायक दल की बैठक रखी थी। जयपुर के फेयरमोंट होटल में इस बैठक के दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि जरूरत पड़ने पर वह रा’ष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के पास भी जा सकते हैं। गहलोत ने विधायकों से कहा कि उन्हें 21 दिन और होटल में रहना पड़ सकता है। साथ ही कहा कि अगर इस दौरान मुख्यमंंत्री नरेंद्र मोदी के आवास पर भी ध’रना देना पड़े तो इसके लिए भी वह तैयार हैं।

दूसरी ओर अशोक गहलोत के इस बयान से यह कया’स लगाए जा रहे हैं कि राजस्थान की यह सियासी उथल-पु’थल अभी और चलेगी। इससे पहले शुक्रवा’र की रात को भी गहलोत ने इस संबंध में बैठक रखी थी। इस बैठक में उन्होंने अपने प्रस्ताव पर राज्यपाल द्वारा उठाए गए पॉइंट्स पर च’र्चा की थी। वहीं शुक्रवा’र को ही अशोक गहलोत राज्‍यपाल कलराज मिश्र से मिलने पहुंचे थे, लेकिन राज्यपाल ने उनसे मुलाक़ात करने से इं’कार कर दिया। जिसके बाद कांग्रेस के विधायक राजभवन के बाहर ध’रना देकर बैठ गए।

Ashok Gehlot’s Meeting


राज्यपाल कलराज मिश्र ने इस विषय में कहा कि वह सत्र आहूत करने के सं’बंध में बिना किसी दबाव के फैस’ला लेंगे और संविधान का पालन करेंगे। वहीं पांच घंटे बाद कांग्रेस और उसका सम’र्थन कर रहे दलों के विधायकों ने अपना ध’रना खत्म कर दिया था। वहीं शुक्रवा’र को ध’रने को लेकर कांग्रेस नेता गोविंद सिंह डोटासराने कहा कि “भाजपा द्वारा राजस्थान में लोकतंत्र की ह’त्या के षडयं’त्र के खि’लाफ कल सुबह 11 बजे सभी जिला मुख्यालयों पर कांग्रेस कार्यकर्ताओं द्वारा प्रदर्शन किए जाएंगे और ध’रना दिया जाएगा।”

बता दें कि शनिवा’र को भारतीय जनता पार्टी की राजस्थान इकाई का एक प्रतिनिधिमं’डल भी इस मामले में राज्यपाल कलराज मिश्र से मिला था। सतीश पूनियां की अगुवाई में इस मंडल ने राज्यपाल से मुलाक़ात की और बीते दो दिनों में राज्य में हुई घ’टनाक्रम को लेकर कांग्रेस पार्टी पर नि’शाना साधा था। उन्होंने कहा कि “कांग्रेस ने राजभवन को ध’रने एवं प्रदर्शन का अखा’ड़ा बना दिया।” साथ ही उन्होंने ध’रना प्रदर्शन पर कई सवाल भी उठाए।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *