जयपुर: राजस्थान की राजनीति में हर दिन नया मोड़ आ रहा है। पहले फोन टैपिंग मा’मले को लेकर अशोक गहलोत सरकार स’वालों के घेरे में आ गई थी। इसी बीच अब निर्दलीय विधायक और पूर्व केन्द्रीय मंत्री महादेव सिंह खंडेला ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का समर्थन किया है। गुरुवार को खंडेला सीएम अशोक गहलोत के समर्थन में कहा ” ‘‘अशोक गहलोत ही राजस्थान की कांग्रेस हैं’’ और वो ही मुख्यमंत्री रहेंगे’। सीकर में संवाददाताओं से बातचीत में खंडेला ने कहा, ‘‘मैंने सदैव कांग्रेस को मां कहा, उसके साथ हूं और अशोक जी गहलोत में विश्वास है।

मैं कहता हूं कि अशोक गहलोत ही राजस्थान की कांग्रेस है और वो ही मुख्यमंत्री रहेंगे। मुझे आलाकमान पर पूरा विश्वास है।’’ उन्होंने आगे कहा, ‘‘मैंने सदैव कांग्रेस को मां कहा, उसके साथ हूं और अशोक जी गहलोत में विश्वास है। मैं कहता हूं कि अशोक गहलोत ही राजस्थान की कांग्रेस है और वो ही मुख्यमंत्री रहेंगे। मुझे आलाकमान पर पूरा विश्वास है।’’ आपको बता दें कि, 2018 में निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में खंडेला विधानसभा क्षेत्र से विधानसभा चुनाव जीते थे। कांग्रेस ने उन्हें टिकट नही दिया था जिसकी वजह से उन्होंने निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में चुनाव ल’ड़ा था।

आपको बता दें कि, राजस्थान में फोन टै’पिंग के मामलें में अशोक गहलोत सरकार आ’रोपों के बीच में घिर गई थी।मध्यावधि चुनाव और फोन टेपिंग से जुड़े सवाल जब मीडिया ने भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ. सतीश पूनिया से पूछे तो उन्होंने कहा, फोन टैपिंग के मामलें में कांग्रेस विधायकों के बयान मीडिया में सुनें, जासूसी हो रही है। उन्होंने कहा, “उपमुख्यमंत्री और पीसीसी चीफ सचिन पायलट को बर्खास्त करना पड़ा था। जनता द्वारा चुनी हुई सरकार 42 दिन तक बाड़े में बंद रही। और जब ऐसे अंदेशो के बीच कोई विधायक यह कहे कि हमारी जा’सूसी होती है, फोन टेपिंग होती है, तो मुझे लगता है कि प्रदेश में अ’घोषित किस्म का आ’पातकाल लगा दिखता है, हर तरफ सेंसरशिप व शंका दिखती है”।

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *