महाराष्ट्र की मनसे के अध्यक्ष राज ठाकरे इन दिनों अपने बयानों को लेकर चर्चा में रहे हैं. साथ ही उन्होंने लाउड स्पीकर विवाद खड़ा करके भी सुर्ख़ियाँ बटोरी हैं. कहा जा रहा है कि उनके इन बयानों को भाजपा का समर्थन है लेकिन अब भाजपा के ही एक नेता ने राज ठाकरे के ख़िलाफ़ मोर्चा खोल दिया है. भाजपा नेता बृजभूशण शरण सिंह ने राज ठाकरे से कहा है कि वो अयोध्या में प्रवेश करने से पहले माफ़ी मांगें.

असल में महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के प्रमुख राज ठाकरे ने पाँच जून को अयोध्या में रामलला के दर्शन का ऐलान किया है. शिवसेना राज ठाकरे के इस एलान को सियासी बता रही है और कह रही है कि मनसे को पुनर्जीवित करने के लिए राज ये सब कर रहे हैं लेकिन उनको इसमें कोई कामयाबी नहीं मिलेगी.

उनके इस बयान पर अब उत्तर प्रदेश में भी राजनीति शुरू हो गई है. कैसरगंज लोकसभा सीट से भाजपा सांसद बृजभूषण शरण सिंह ने राज ठाकरे के अयोध्या में प्रवेश नहीं करने देने की चेतावनी दी है. बीजेपी सांसद ब्रजभूषण शरण सिंह ने गुरुवार को एक ट्वीट किया. इसमें उन्होंने लिखा,”उत्तर भारतीयों को अपमानित करने वाले राज ठाकरे को अयोध्या की सीमा में घुसने नहीं दूंगा। अयोध्या आने से पहले सभी उत्तर भारतीयों से हाथ जोड़कर माफी मांगे राज ठाकरे।”

बृजभूषण शरण सिंह ने सीएम योगी आदित्यनाथ को भी राज ठाकरे से नहीं मिलने की सलाह देते हुए लिखा कि ‘जब तक राज ठाकरे सार्वजनिक रूप से उत्तर भारतीयों से माफी नहीं मांग लेते मेरा आग्रह है तब तक मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी को राज ठाकरे से नहीं मिलना चाहिए।’ उन्होंने राममंदिर आंदोलन में ठाकरे परिवार की भूमिका को नकारते हुए कहा कि ”राम मंदिर आंदोलन से लेकर मंदिर निर्माण तक राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ, विश्व हिन्दू परिषद और आमजन की ही भूमिका रही है। ठाकरे परिवार का इससे कोई लेना देना नहीं।’

By Arghwan Rabbhi

Arghwan Rabbhi is a researcher and journalist.

Leave a Reply

Your email address will not be published.