कांग्रेस के वरिष्ठ नेता राहुल गांधी को ED द्वारा पूछताछ के लिए बुलाने के बाद ED सवालों के घेरे में है. पूरे देश में कांग्रेस ने इसके ख़िलाफ़ प्रदर्शन किया है. कांग्रेस नेताओं ने आरोप लगाया कि ED केंद्र सरकार की एक ऐसी मशीन गन बन गई है जिसका बारूद कभी ख़त्म नहीं होता और विपक्षी नेताओं पर इसका वार होता ही रहता है.

कांग्रेस नेता कार्ति चिदम्बरम ने कहा कि मुझे ईडी के नोटिस सबसे ज़्यादा बार मिले हैं। मैं ईडी के मामलों में कांग्रेस का विशेषज्ञ हूं। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने मोदी सरकार को घेरते हुए कहा कि मोदी जब डरते हैं तो ईडी को आगे कर देते हैं। कांग्रेस के समर्थन में शिवसेना ने भी बयान दिया है. शिवसेना के वरिष्ठ नेता संजय राउत ने कहा कि राहुल गांधी के खिलाफ कार्रवाई ग़ैर-क़ानूनी है। जो भी नेता ‘भाजपा’ के खिलाफ बोलता है, उसके पीछे ईडी की टीम छोड़ दी जाती है।

कांग्रेस नेत्री प्रियंका गांधी के पति रॉबर्ट वाड्रा ने भी इस मुद्दे पर बयान दिया. उन्होंने कहा कि राहुल गांधी तमाम निराधार आरोपों से बरी होंगे। नेशनल हेराल्ड मामले में सत्य की जीत होगी। कांग्रेस की राज्यसभा सांसद रंजीत रंजन ने कहा, मोदी सरकार डर गई है, इसलिए वह सोनिया गांधी और राहुल गांधी को परेशान कर रही है। जल निगम भर्ती घोटाले में ईडी ने सपा नेता आजम खां के खिलाफ एक और मुक़दमा दर्ज किया है।

उल्लेखनीय है कि राबर्ट वाड्रा से ईडी लंबी पूछताछ कर चुकी है। दिल्ली के मंत्री सत्येंद्र जैन, अभी तक ईडी की हिरासत में हैं। ईडी ने जब शिवसेना नेता संजय राउत की प्रॉपर्टी ज़ब्त की तो उन्होंने कहा था, मुझे गोली मार दें या मुझे जेल में डाल दें, हम नहीं डरते। पंजाब के पूर्व सीएम चरणजीत सिंह चन्नी से भी कथित रेत खनन मामले में ईडी लंबी पूछताछ कर चुकी है।

आपको बता दें कि अप्रैल में नेशनल हेराल्ड मामले में ही ईडी ने मल्लिकार्जुन खड़गे को समन भेजा था। उनसे पांच घंटे तक पूछताछ की गई। अप्रैल को इसी मामले में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पवन बंसल को पूछताछ के लिए बुलाया गया। जांच एजेंसी ने धनशोधन रोकथाम अधिनियम (पीएमएलए) के आपराधिक प्रावधानों के तहत उनका बयान दर्ज किया है।

‘नेशनल हेराल्ड’ का प्रकाशन ‘एसोसिएटेड जर्नल्स लिमिटेड’ (एजेएल) करती है। इसका मालिकाना हक ‘यंग इंडियन प्राइवेट लिमिटेड’ के पास है। खड़गे को इस कंपनी का मुख्य कार्यकारी अधिकारी बताया जाता है। पवन बंसल, एजेएल के प्रबंध निदेशक होने के अलावा कांग्रेस के अंतरिम कोषाध्यक्ष भी हैं।

By Arghwan Rabbhi

Arghwan Rabbhi is a researcher and journalist.

Leave a Reply

Your email address will not be published.