प्रिंस चार्ल्स ने की मुसल’मानों की तारीफ़, रम’ज़ान के सन्देश में इस बात के लिए हो गए दुःखी..

लन्दन: दुनिया भर में रम’ज़ान का पाक महीना शुरू हो गया है. इस्लाम धर्म के लिए पवित्र माने जाने वाले इस महीने में मुस्लिम समुदाय के लोग रोज़े रखते हैं. ये महीना ईद का चाँद निकलने के अनुसार 30 या 29 दिन का होता है. रम’ज़ान के पाक महीने के शुरू होने के अवसर पर वेल्स के राजकुमार प्रिंस चार्ल्स ने यूनाइटेड किंगडम और दुनिया भर के लोगों को मुबारकबाद पेश की है. उन्होंने एक सन्देश भी रम’ज़ान के अवसर पर दिया है.

इस सन्देश को NAZ लिगेसी फ़ाउंडेशन और मोज़ेक द्वारा आयोजित किया गया जिसकी शुरुआत में प्रिंस चार्ल्स ने ‘अस्सलाम ओ अलैकुम’ कहा. 71 साल के प्रिंस ने एक पूर्व-प्रसारित वीडियो में कहा कि इस वायरस की वजह से कमज़ोर और बुज़ुर्ग लोगों को तो ख़तरा है लेकिन कम उम्र के लोगों के लिए भी ये वायरस क़हर बन रहा है.उन्होंने कहा कि 13 वर्षीय इस्माइल मुहम्मद अब्दुल वहाब की “दुःखद” कहानी सुनी जिससे मेरा दिल टूट गया था.. वो कोरोना पॉज़िटिव था और इस वजह से उसकी जान चली गई.

उन्होंने इस कोरोना वायरस से ल’ड़ाई में मु’सलमानों के योगदान की सराहना की. उन्होंने मस्जिदों में चलाये जा रहे राहत कार्यों की भी तारीफ़ की और कहा कि ये बहुत अच्छा है कि मस्जिदें, मंदिरों और चर्चेस के साथ मिलकर कोरोना से ल’ड़ाई में अहम् योगदान दे रही हैं. उन्होंने कहा कि गॉड (अल्लाह) ने क़ुरान में कहा है कि ख़ुदा किसी को भी उतना बोझ नहीं देता कि वो उठा न सके.उन्होंने कहा,”रमज़ान मुबारक! मैं सभी के लिए सुरक्षा, अच्छे स्वास्थ्य और समृद्धि की कामना करता हूं।”

About Arghwan Rabbhi

Arghwan Rabbhi is a researcher and journalist.

View all posts by Arghwan Rabbhi →

Leave a Reply

Your email address will not be published.