भंवर लाल के बयान से ग’रमाई राजस्थान की सि’यासत, पायलट ख़े’मे के नेता ने की गहलोत..

June 15, 2021 by No Comments

राजस्थान की अशोक गलहोत सरकार में चल रही उ’ठाप’टक की खबरों के बीच वरिष्ठ कांग्रेसी नेता व विधायक भंवरलाल शर्मा ने साफ किया कि गहलोत उनके नेता हैं और रहेंगे भी। उन्होंने अपने आवास पर पत्रकारों से वार्ता करते हुए कहा कि कांग्रेस पार्टी पूरी तरह ए’कजुट है और किसी भी तरीके का संक’ट सरकार पर नही है। उन्होंने कहा कि सचिन पायलट उनके नेता हैं लेकिन मुख्यमंत्री अशोक गहलोत उनसे ऊपर हैं। उन्होंने पत्रकारों को बताया कि उनकी अब मंत्री बनने की इच्छा नही रह गयी है।

मुख्यमंत्री से विप्र कल्याण बोर्ड के गठन की मांग की थी वो मांग शीघ्र ही पूरी होगी। उन्होंने कहा कि पहले क्षेत्र की जनता का काम नही हो रहा था इसलिए मैं मानसरोवर गया था लेकिन अब काम हो रहा है। कांग्रेस प्रभारी माकन के साथ मिलकर हम काम कर रहे हैं हम सभी एकजुट हैं। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत 2 महीने किसी से मुलाकात नही करेंगे इसलिए दो माह तक मन्त्रिमण्डल में फेर बदल की संभावना नही है।

उन्होंने ये भी स्पष्ट किया कि सचिन पायलट कांग्रेस छोड़कर भाजपा में कभी नही जाएंगे। उन्होंने इच्छा ज़ाहिर की कि राहुल गांधी को कांग्रेस की कमान संभालनी चाहिए। उन्होंने फोन टेपिंग के सवाल पर कहा कि सरकार ने किसी का भी फोन टेप नही किया है ये सब विपक्ष द्वारा फैलाई गई अफवाह है।
भंवरलाल शर्मा के दिये इस बयान से भाजपा निश्चित तौर पर मायूस हुई होगी क्योंकि भाजपा को आशा थी कि काँग्रेस का एक धड़ा उससे अलग हो कर सरकार गिरा सकता है।

भंवरलाल शर्मा पायलट गुट के माने जाते थे इसके पहले हुई बगावत में भी भंवरलाल पायलट खेमे के साथ थे। ऐसा माना जाता है पिछली बार विधयकों को पायलट के साथ लाने में भंवर लाल की विशेष भूमिका थी। गौरतलब हो कि असंतुष्ट विधायकों से बात करने के लिए कांग्रेस आलाकमान द्वारा बनाई गई कमेटी द्वारा 10 माह में कोई काम न होने पर पायलट के खेमे के विधयकों द्वारा रोज़ कोई न कोई सरकार विरोधी बयानबाज़ी की जा रही है।
ऐसे में राजस्थान के जादूगर गहलोत असंतुष्ट विधायकों व सचिन पायलट को कैसे सन्तुष्ट कर पाते हैं ये आने वाले दिनों में देखने वाली बात होगी।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *